गुड़ का सेवन करने से आपको मिलेंगे बहुत फायदे

गुड़ एक प्रकार की चीनी ही होती है, जिसे एशिया और अफ्रीका में बनाया जाता है और कई जगह इसे पारंपरिक रूप से नॉन-सेंट्रीफुगल केन शुगर के नाम से भी जाना जाता है। इसे केरल में पुर्तगाली ने 1600 में डिस्कवर किया था।
से गन्ने के रस, खजूर, नारियल से देशभर में बनाया जाता है और यह भारतीय खाने का एक अहम हिस्सा भी है। इतना ही नहीं गुड़ में कई स्वास्थ्यवर्धक फायदे भी होते हैं।

आयु फार्मा-अंतरराष्ट्रीय जर्नल ऑफ आयुर्वेद एंड एलाइड साइंस 2016 के मुताबिक आयुर्वेद गुड़ के सेवन को मेडिकल प्रॉपर्टीज के लिए सपोर्ट करता है। यह एक प्रकार का स्वास्थ्यवर्धक और नेचुरल स्वीटनर है और व्हाइट चीनी के मुकाबले काफी बेहतर होता है क्योंकि इसमें मिनरल कंटेंट ज्यादा होता है। गुड़ में कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, आयरन, फॉसफोरस और साथ ही ट्रेस कॉपर, थियामिन, रिबोफ्लेविन, नियासिन और जिंक होता है।

कुछ स्टडी में पता चला है कि गुड़ में प्रोटीन, विटामिन बी, एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स होते हैं। इस वजह से आप अपनी डाइट में रोजाना 10 से 12 ग्राम गुड़ को शामिल कर सकते हैं। यह आपके शरीर से हानिकारक टॉक्सिन को निकालने में मदद करता है।

ब्लड प्रेशर को करे कंट्रोल
गुड़ को अपनी डाइट में शामिल करने से आप अपने हाई या फिर लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकते हैं क्योंकि इसमें पोटैशियम और सोडियम होता है जो ब्लड लेवल को मेंटेन करने में मदद करता है।

एनीमिया को रोके
गुड़ में मिनरल जैसे कि आयरन और फास्फोरस होता है जो आयरन और फोलेट का बहुत ही अच्छा सोर्स है और इस वजह से ये एनीमिया को रोकने में मदद करता है। यदि आप अपनी डाइट में गुड़ को शामिल करते हैं तो इससे आयरन की कमी का खतरा भी कम होता है।

वेट लॉस कंट्रोल करने में करता है मदद
इसके कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे होते हैं और ये वजन को कम करने में मदद करता है। यह व्हाइट शुगर का अच्छा सब्सीट्यूट है, जो वजन बढ़ने का कारण बनता है और साथ ही ब्लड ग्लूकोज लेवल को भी बढ़ाता है। ऐसे में गुड़ नेचुरल स्वीटनर का काम करता है और चीनी का अच्छी अल्टरनेटिव होती है जो वजन को बढ़ने से रोकने में मदद करता है और साथ ही क्रेविंग्स को भी कंट्रोल करता है।

मेंस्ट्रुअल पेन को करता है कम
गुड़ मेंस्ट्रुअल पेन को कम करने में भी मदद करता है। साथ ही यह मेंस्ट्रुएशन के दौरान होने वाली खाने से जुड़ी क्रेविंग, मूड स्विंग, इरिटेशन आदि को भी कंट्रोल करता है। यदि आप इसे अपनी डेली डाइट में शामिल करते हैं तो इससे आपकी पीरियड साइकिल भी वक्त पर आती है।

खांसी-जुकाम में फायदेमंद
गुड़, खांसी और जुकाम को कम करने में मदद करता है। ये आपकी बॉडी में हीट पैदा करता है और कोल्ड और कफ से लड़ता है। साथ ही यह गले में दर्द की समस्या से भी राहत दिलाता है। इस वजह से आपको गर्म दूध या फिर स्वीटनर के साथ लेने से परेशानी जल्दी दूर होती है।

पूरी बॉडी को करता है क्लींज
गुड़ एक नैचुरल क्लींजर होता है जो बॉडी से अशुद्धियों को निकालने में मदद करता है और यह आंत, पेट, लिवर, गुर्दे आदि पूरे शरीर से ही टॉक्सिन को बाहर निकालता है। इस वजह से अगर आप भोजन के बाद थोडा सा गुड़ खाते हैं तो इससे आपकी बॉडी प्यूरीफाई भी होती है।

पाचन तंत्र को बेहतर बनाए
यदि आप खाना खाने के बाद गुड़ का सेवन करते हैं तो इससे आपके डाइजेस्टिव एंजाइम एक्टिव होते हैं और आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाते हैं। इस वजह से कई लोग खाना खाने के बाद गुड़ खाना पसंद करते हैं।

तो अब आप गुड़ के सभी फायदों के बारे में जानते हैं और यह सफेद चीनी का अच्छा सब्सिट्यूट भी है और साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। इसमें कई सारी मेडिकल प्रॉपर्टीज हैं जो एनीमिया, ब्लड प्रेशर, वजन घटाने और पाचन तंत्रिका आदि को बेहतर बनाने में मदद करती हैं। यदि आप रोजाना 10 से 12 ग्राम गुड़ का सेवन करते हैं तो इससे दिल की बीमारी होने का खतरा भी कम होता है। हालांकि, ध्यान रखें कि आप गुड़ का जरूरत से अधिक सेवन न करें क्योंकि इससे आपको परेशानी भी हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button