शरद पवार और भतीजे की जंग में अमिताभ बच्चन और रतन टाटा का क्यों जिक्र; सुप्रिया सुले ने दिलाई याद

 नई दिल्ली
एनसीपी में उत्तराधिकार का संघर्ष अब निजी हमलों में तब्दील होता जा रहा है। अजित पवार ने बुधवार को चाचा शरद पवार की 82 साल की उम्र का हवाला देते हुए कहा था कि आखिर आप कब रुकेंगे? उन्होंने भाजपा का उदाहरण देते हुए कहा था कि वहां नेता 75 साल की उम्र में रिटायर हो जाते हैं। अजित पवार ने कहा था कि एक नेता की सक्रिय उम्र 25 साल से 75 तक रहती है, लेकिन आप 82 के हो चुके हैं। आप आखिर कब तक चलेंगे? यही नहीं उन्होंने खुद को नजरअंदाज करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि क्या मेरा यही दोष है कि मेरा जन्म किसी और से हुआ है।

शरद पवार को उम्र की याद दिलाकर अजित पवार ने एक तरह से उन्हें संन्यास लेने की नसीहत दी थी। पिता पर हमला हुआ तो शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले सामने आईं और उन्होंने उम्र को महज एक नंबर करार दिया। उन्होंने रतन टाटा और अमिताभ बच्चन का जिक्र करते हुए कहा कि ये लोग भी 80 साल से ज्यादा के हैं, लेकिन आज भी काम कर रहे हैं। सुप्रिया सुले ने कहा, 'कुछ लोग कहते हैं कि जिनकी उम्र ज्यादा है, उन्हें रिटायर हो जाना चाहिए और आशीर्वाद देना चाहिए। आखिर उन्हें काम क्यों बंद करना चाहिए? देश की सबसे बड़े कारोबारी समूहों में से एक का नेतृत्व करने वाले रतन टाटा 86 साल के हैं।'

सुप्रिया सुले ने कहा कि सीरम इंस्टिट्यूट के मुखिया साइरस पूनावाला 84 के हैं और अमिताभ बच्चन भी 82 साल की उम्र में काम कर रहे हैं। क्या वे थके दिखते हैं? इस दौरान सुप्रिया सुले ने फारूक अब्दुल्ला और वॉरेन बफे का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि उम्र सिर्फ एक नंबर है। शरद पवार का कोई मुकाबला नहीं है। गौरतलब है कि अजित पवार ने चाचा पर तीखे हमले किए हैं। उन्होंने कहा था कि मैं 5 बार डिप्टी सीएम बन चुका हूं, लेकिन अब तक मुख्यमंत्री नहीं बना। मुझे सीएम बनना है और जनता के लिए कुछ स्कीमों को लागू करना है, जो मेरे पास हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button