केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी को तबीयत खराब, AIIMS में भर्ती

नईदिल्ली

केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी की तबीयत अचानक बिगड़ गई है। उन्हें दिल्ली-एम्स (Delhi AIIMS) में भर्ती कराया गया है। समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्हें सीने में जकड़न की शिकायत बताई जा रही है। सूत्रों ने बताया कि सीने में जकड़न की शिकायत के बाद उन्हें रात करीब 10 बजकर 50 मिनट पर दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान लाया गया। केंद्रीय मंत्री (Union Minister for Culture and Tourism G Kishan Reddy) को कार्डियो न्यूरो सेंटर के कार्डियक केयर यूनिट में भर्ती कराया गया है।

मंत्री जी किशन रेड्डी की तबीयत अब कैसी है इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। सूत्रों की मानें तो जल्द इस बारे में अपडेज जारी किया जा सकता है। इससे पहले दिन में केंद्रीय संस्कृति मंत्री ने एक कार्यक्रम में शिरकत की। उन्होंने इस मौके पर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में देश की विरासत, इतिहास और संस्कृति पर प्रकाश डाला गया है। रेड्डी राष्ट्रीय राजधानी में 'नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट' (एनजीएमए) में रेडियो कार्यक्रम की 100वीं कड़ी के उपलक्ष्य में 'जन शक्ति: एक सामूहिक शक्ति' प्रदर्शनी के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

अभी एक दिन पहले यानी शनिवार को जी. किशन रेड्डी ने सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर 'गंगा पुष्करला यात्रा पुरी-काशी-अयोध्या' भारत गौरव पर्यटक ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। इस मौके पर रेड्डी ने कहा था कि भारतीय रेलवे भारत गौरव ट्रेनों की शुरुआत के साथ देश और विदेश के तीर्थयात्रियों के लिए शानदार ऐतिहासिक स्थानों के भ्रमण का एक शानदार मौका प्रदान कर रही है।

शनिवार को केंद्रीय पर्यटन मंत्री बिल्कुल स्वस्थ्य नजर आ रहे थे। उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत गौरव पर्यटन ट्रेन पर्यटकों को 10 जून से 18 जून तक हरिद्वार-ऋषिकेश के बाद, माता वैष्णोदेवी तक की यात्रा कराएगी। इस ट्रेन में यात्रियों के लिए पर्याप्त सुविधा मुहैया कराई गई है। इस सुविधा के जरिए पर्यटकों को देश की संस्कृति को करीब से जानने का मौका मिलेगा। इस पहलकदमी से पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। इस पहल के तहत दो चरणों में यात्राएं संचालित की जा चुकी हैं। तीसरे चरण की यात्रा जारी है जबकि चौथी और पांचवीं यात्रा की घोषणा कर दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button