ये सीनियर प्लेयर IPL 2023 में ढहा रहे हैं कयामत, इम्पैक्ट प्लेयर के रूप में हैं टीमों के लिए वरदान

 नई दिल्ली

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के मौजूदा सत्र में बेस प्राइस पर खरीदे गये अजिंक्य रहाणे (सीएसके), मोहित शर्मा (गुजरात टाइटंस), अमित मिश्रा (लखनऊ सुपर जाएंट्स) और पीयूष चावला (मुबंई इंडियंस) ने अपने प्रदर्शन से न सिर्फ अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया है, बल्कि यह भी साबित किया है कि उम्रदराज होने के बावजूद उनमें अभी काफी क्रिकेट बाकी है। सभी को आईपीएल 2023 की नीलामी में बेस प्राइस पर खरीदा गया था।

सीजन की शुरुआत से पहले इन खिलाड़ियों को किसी ने मौका नहीं दिया, लेकिन इन्होंने अपने प्रदर्शन से अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। मोहित शर्मा ने तीन मैचों में चार विकेट लिए हैं और पहले ही दो मौकों पर गुजरात के लिए दो प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार के साथ लौटे हैं। डेथ ओवरों में वह कप्तान हार्दिक पांड्या के लिए एक पसंदीदा गेंदबाज रहे हैं। वहीं, राजस्थान रॉयल्स के लिए रिप्लेसमेंट के रूप में आए संदीप शर्मा भी अब तक सफल रहे हैं।

       अजिंक्य रहाणे को चेन्नई सुपर किंग्स ने 50 लाख रुपये के बेस प्राइस पर खरीदा था। रहाणे ने भी अपने लुभावने प्रदर्शन के साथ आईपीएल में सबका ध्यान आकर्षित किया है। वह अब तक पांच पारियों में 52.25 की औसत और 199.1 के स्ट्राइक रेट से 209 रन बना चुके हैं। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज ने स्टार स्पोर्ट्स के क्रिकेट लाइव शो पर कहा "रहाणे ने अपने खेल में फिर से बदलाव किया है। वह टी20 प्रारूप में फिट होना चाहते थे और इसलिए उन्होंने अपना खेल बदला। उनके शॉट्स में कोई बदलाव नहीं हुआ है, लेकिन नजरिये में काफी बदलाव आया है। यह रहाणे बिल्कुल नए दिख रहे हैं।"
 
इसी तरह सीनियर स्पिनर पीयूष चावला ने पांच बार के चैंपियन मुंबई इंडियंस के लिए खेले गए छह मैचों में नौ विकेट लिए हैं। चावला ने अपने पहले छह मैचों में 6.9 की इकॉनमी से गेंदबाजी की। पूर्व भारतीय खिलाड़ी हरभजन सिंह का मानना ​​है कि इम्पैक्ट सब्स्टीट्यूट नियम पीयूष चावला और अमित मिश्रा जैसे दिग्गज क्रिकेटरों को उनके द्वारा खेले जाने वाले हर खेल पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव छोड़ने की अनुमति देता है, क्योंकि वे दोनों अनुभवी खिलाड़ी हैं और टीम के लिए एक संपत्ति हैं।

     हरभजन सिंह ने इसी शो पर कहा, "चावला और मिश्रा जानते हैं कि उनके पास गेंदबाजी करने के लिए केवल तीन-चार ओवर हैं और उस दौरान वे अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकते हैं। दोनों के पास क्लास और अनुभव है।" वहीं, मयंक मारकंडे ने पांच मैचों में एसआरएच के लिए 6.7 की इकॉनमी से गेंदबाजी करते हुए आठ विकेट चटकाए हैं, जबकि अनकैप्ड केकेआर के स्पिनर सुयश शर्मा ने कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अब तक खेले गए 5 मैचों में सात विकेट हासिल किए। सुयश को केकेआर ने उनके बेस प्राइस 20 लाख रुपये में खरीदा था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button