सोने के दाम हुए रॉकेट, चाँदी के भाव को लगे पर, एक खबर का है असर

नईदिल्ली
2 हजार के नोट की नोटबंदी होते ही लोग उनके पास रखे नोटों को ठिकाने लगाने लग गए हैं। गुजरात के बाजार में लोग इनके एवज में सोना-चांदी खरीदने पहुंचने लगे। 2 हजार के नोट में भुगतान कर सोना-चांदी खरीदने वालों को 8 से 10 हजार रुपए ज्यादा चुकाने पड़ रहे थे। बाजार के जानकारों ने पहचान छिपाने की शर्त पर बताया कि 10 ग्राम सोना खरीदने पर 5 से 10 हजार रुपए अधिक लिए गए। यानी प्रति 10 ग्राम सोना 70 हजार रुपए में बिका। वहीं एक किलो चांदी के दाम 80 हजार तक पहुंच गए।

सोना क्यों खरीद रहे लोग?
IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता कहते हैं कि जिन लोगों के पास ज्यादा मात्रा में 2 हजार के नोट हैं वो अगर बैंक में इसे जमा करने जाएंगे तो उन्हें इस पर अपनी सालाना कमाई के आधार पर टैक्स देना होगा। इसके अलावा ज्यादा कैश रखने पर सरकार उनसे पूछताछ भी कर सकती है। ऐसे में इन सब झंझटों से बचने के लिए लोग सोने का रुख कर रहे रहे हैं। इसके अलावा सोने को रखना भी आसान है। अनुज गुप्ता बताते हैं कि 2016 में भी नोटबंदी के समय सोने में ऐसी ही तेजी देखने को मिली थी। इस समय सोना 30 हजार से 50 हजार पर पहुंच गया था।

इस महीने के आखिर में 65 हजार के पार जा सकता है सोना
अनुज गुप्ता कहते हैं कि शेयर बाजार में जारी उतार-चढ़ाव के कारण पहले ही सोने को सपोर्ट मिल रहा है। ऐसे में अब 2 हजार के नोट को सर्कुलेशन से बाहर करने के निर्णय के बाद लोग उनसे पास रखे नोटों से सोना खरीद रह हैं। इससे इसकी कीमत और सपोर्ट मिलेगा और ये इस महीने के आखिर तक 65 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम के पार जा सकता है। वहीं चांदी की बात करें तो ये 80 हजार रुपए प्रति किलोग्राम के पार जा सकती है।

इस साल सोने में दिखी शानदार तेजी
इस साल अब तक सोने में शानदार तेजी देखने को मिली है। इस साल की शुरुआत यानी 1 जनवरी को ये 54,867 रुपए प्रति 10 ग्राम पर था, जो अब 60,275 रुपए पर पहुंच गया है। यानी इसके दाम में 5,408 रुपए की तेजी आई है।

जहां भी छापे, वहां 2000 की गड्डियों में काली कमाई
सात साल पहले नोटबंदी की गई तो एक मकसद कालेधन पर लगाम कसना भी। हालांकि काली कमाई करने वालों ने इसका रास्ता भी निकाल लिया। हाल के सालों में जहां ED, आयकर विभाग, CBI या राज्यों की पुलिस ने छापे मारे वहां, ज्यादातर 2000 रुपए की गडि्डयां ही काली कमाई के रूप में जब्त हुईं। हालिया समय की 6 बड़ी कार्रवाई में 600 करोड़ से ज्यादा नकदी जब्त हुई है। कानपुर में इत्र कारोबारी के यहां से 284 करोड़ और हैदराबाद की दवा कंपनी के ठिकानों से 142.87 करोड़ रु. मिले थे।

रिजर्व बैंक ने 2000 के नोट को लेकर क्या आदेश दिए?
रिजर्व बैंक 2000 का नोट सर्कुलेशन से वापस लेगा, लेकिन मौजूदा नोट अमान्य नहीं होंगे। 2 हजार का नोट नवंबर 2016 में मार्केट में आया था। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए थे। इसकी जगह नए पैटर्न में 500 का नया नोट और 2000 का नोट जारी किया गया था। RBI साल 2018-19 से 2000 के नोटों की छपाई बंद कर चुका है।

RBI ने फिलहाल 30 सितंबर तक 2000 के नोट बैंकों में बदलने या अकाउंट में जमा करने को कहा है, लेकिन यह भी कहा है कि यह इसके बाद भी लीगल रहेगा। ऐसा सिर्फ लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए है, ताकि वे यह नोट बैंकों को वापस करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button