कर्नाटक में विधानसभा चुनाव जीतने वाली पार्टी ने नहीं जीती है लोकसभा की बाजी, आंकड़े दे रही गवाही

 नई दिल्ली

कर्नाटक विधानसभा चुनाव वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले होने वाले चार सेमीफाइनल में से पहला मुकाबला है। कर्नाटक चुनाव परिणाम जहां मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ चुनाव का रुख तय करेंगे। वहीं, आगामी लोकसभा चुनाव पर भी असर पड़ेगा। हालांकि, विधानसभा में जीत दर्ज करने वाली पार्टी को लोकसभा चुनाव में खास फायदा नहीं मिलता। प्रदेश में ज्यादातर सीट पर मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है। ऐसे में लोकसभा चुनाव से पहले मौजूदा चुनाव कांग्रेस के लिए ज्यादा अहम है। कर्नाटक चुनाव परिणाम यह तय करेंगे कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान (विधानसभा) में कांग्रेस सीधी लड़ाई में भाजपा को शिकस्त दे सकती है। वहीं, भाजपा जीतती है तो दक्षिण में उम्मीद बरकरार रहेगी।

कर्नाटक में लोकभा की 28 सीटें हैं। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने अपना बेहतर प्रदर्शन करते हुए 25 सीट पर जीत दर्ज की थी। खास बात यह है कि भाजपा ने यह जीत तब दर्ज की, जब प्रदेश में एचडी कुमारस्वामी की अगुआई में जेडीएस-कांग्रेस की साझा सरकार थी। दोनों पार्टियों को विधानसभा में 56 फीसदी वोट मिला था।

राजनीतिक जानकार मानते हैं कि विधानसभा चुनाव परिणाम का लोकसभा चुनाव पर बहुत असर नहीं पड़ता है। कर्नाटक विधानसभा और लोकसभा चुनाव परिणाम के आंकड़े भी इस बात की तस्दीक करते हैं। विधानसभा में सरकार को दरकिनार कर भाजपा ने लगभग हर लोकसभा चुनाव में अपनी सीट के साथ अपने वोट प्रतिशत में इजाफा किया है। वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव के वक्त कर्नाटक में कांग्रेस की एसएम कृष्णा की अगुवाई में सरकार थी। वहीं, 2009 के चुनाव के वक्त भाजपा के बीएस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री थे। इन दोनों चुनाव में भाजपा को 18 और 19 सीट मिली थी। वर्ष 2014 के चुनाव में मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की सरकार के वक्त कांग्रेस 9 सीट जीतने में सफल रही थी।

लोकसभा चुनाव 2014
भाजपा को 43 प्रतिशत वोट के साथ 17 सीटें मिलीं।
कांग्रेस 41 प्रतिशत वोट और 9 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही।
जेडीएस के खाते में 11 प्रतिशत वोट के साथ दो सीटें आईं।

लोकसभा चुनाव 2019
भाजपा का प्रदर्शन और सुधरा। 52 प्रतिशत वोट के साथ 25 सीटें मिलीं।
कांग्रेस को सिर्फ एक सीट से संतोष करना पड़ा। 32 प्रतिशत वोट मिले।
जेडीएस के खाते में भी सिर्फ एक सीट गई। वहीं, 10 प्रतिशत वोट ही मिले।

2013 विधानसभा चुनाव परिणाम
भाजपा को 40 सीटें मिली थी। भगवा पार्टी के खाते में सिर्फ 19.89 वोट आए।
वहीं, कांग्रेस 122 सीटों के साथ सरकार बनाने में सफल रही। कांग्रेस को इस चुनाव में 36.59 प्रतिशत वोट मिले थे।
जेडीएस को भी बीजेपी की तरह 40 सीटें मिलीं। वोट प्रतिशत 20.19 रहा।

2018 विधानसभा चुनाव परिणाम
2018 में बीजेपी ने बाजी पलटी। 104 सीटें मिलीं। इस चुनाव में भगवा पार्टी को 36.22 प्रतिशत वोट मिले।
कांग्रेस 78 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही। 38.04 प्रतिशत वोट मिले।
जेडीएस को महज 37 सीटें मिलीं। 18.30 प्रतिशत मत मिले। कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की सरकार बनी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button