मिट्टी के बर्तन में दही जमाने का तरीका है फायदेमंद

आप दही कैसे जमाते हैं? किस बर्तन में जमाते हैं। ये दोनों ही चीजें दही का स्वाद और इसके फायदे को तय करती हैं। दरअसल, दही जमाने का ये तरीका काफी कारगर है और इससे आप दही के माइक्रोन्यूट्रिएंट्स को भी बढ़ा सकते हैं। साथ ही ये तरीका आपको बाजार जैसा गाढ़ा और मीठा दही बनाने में मदद करेगा। तो, आइए जानते हैं दही जमाने के इस तरीके के बारे में।

मिट्टी के बर्तन में दही जमाने का ये तरीका काफी कारगर है। ये तरह से आप काफी गाढ़ा टेक्सचर वाला बाजार की तरह दही जमा सकते हैं। इसके लिए आपको बस करना है ये

-गर्मी है तो इस मौसम में दूध को अच्छे से उबाल हल्का ठंडा होने तक छोड़ दें। ये लगभग ठंडा होने वाला हो और उंगली से सिर्फ हल्की गर्माहट महसूस हो।
-फिर  इस दूध को एक बर्तन में निकाल लें और इसमें हल्का सा जामन (आधा चम्मच पुरानी दही) मिलाएं।
-अब एक चम्मच से लगभग 5 से 7 बार इस दूध को मिलाएं और इसे एक साफ मिट्टी के बर्तन में पलट दें।
– अब ऊपर से ढक दें। 4 से 6 घंटे रहने दें। आपकी दही जमकर तैयार हो जाएगी।

मिट्टी के बर्तन में दही जमाने के फायदे
मिट्टी के बर्तन में दही जमाने के कई फायदे हैं। पहले तो ये बिलकुल नेचुरल होता है और बर्तन के साथ रिएक्ट नहीं होता जिससे इसका स्वाद बढ़िया रहता है। साथ ही समय बढ़ने के साथ इसका खट्टापन उतनी तेजी से नहीं बढ़ता जिस तरह से बाकी का बढ़ता है। तीसरा मिट्टी का बर्तन दही के एसिडिक कंटेंट को सोख लेता है और इसे एल्कलाइन नहीं बनाता है। इसके अलावा ये दही में कैल्शियम, जिंक, आयरन और फास्फोरस जैसे माइक्रोन्यूट्रिएंट्स को बढ़ाता है।

इस तरह से दही बनाना और इसे खाना आपकी सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद है। तो, आपने कभी ट्राई नहीं किया तो मिट्टी के बर्तन में जही बनाने का ये तरीका जरूर ट्राई करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button