तेज आंधी से CRPF कैंप में बैरकों की उड़ी छत, 11 जवान घायल, जमकर बारिश

जगदलपुर .

बस्तर में शुक्रवार की शाम मौसम में अचानक हुए बदलाव के बीच तेज हवाओं के साथ जमकर बारिश हुई। CRPF 241 बटालियन के एक कैंप में बैरक की छत टूट गई। जिसके अंदर मौजूद करीब 11 जवान घायल हो गए। सभी घायलों का कैंप में ही इलाज चल रहा है। इधर, जगदलपुर शहर के शहीद पार्क के नजदीक जल भराव भी हो गया था।

दरअसल, मौसम विभाग ने पहले ही अलर्ट जारी किया था कि, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में बारिश होगी। बस्तर संभाग के जगदलपुर और दंतेवाड़ा जिले में गरज-चमक के साथ जमकर बारिश हुई। बारिश की वजह से दरभा थाना क्षेत्र के सेड़वा में स्थित CRPF 241 बटालियन का कैंप जलमग्न हो गया। कैंप में मौजूद जवान सामान को इधर-उधर कर रहे थे। साथ ही पानी बाहर निकालने की कोशिश में लगे थे।

घटना की जानकारी मिलने पर रात में सीआरपीएफ के उप महानिरीक्षक एपी सिंह ने कैंप का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। कैंप परिसर में कुछ पेड़ भी आंधी से उखड़ गए हैं। उधर, दंतेवाड़ा के गुड़रा सीएएफ कैंप में भी अंधड़ से नुकसान हुआ है। आज अधिकारी कैंप में हुए नुकसान का जायजा लेने जायेंगे। ज्ञात हो की बस्तर संभाग में जंगलों में सुरक्षा बलों के कैंप हैं। बरसात के दिनों में यहां काफी कठिनाई से जवानों को जूझना पड़ता है।

इधर, बैरक में रखे राशन सहित दूसरे सामान भी इससे प्रभावित हुए है। जिले में बीते दस दिनों से भीषण गर्मी पड़ रही है। झुलसा देने वाली गर्मी के बीच जिले के बड़ेगुडरा क्षेत्र में जमकर बारिश हुई है। थाना प्रभारी कुआकोंडा विजय पटेल ने बताया बैरक की सीट उड़ी है,राशन और दूसरे सामानों का नुकसान हुआ है।

 

जगदलपुर के शहीद पार्क तिराहे पर नालियाें का पानी सड़क पर आ गया

पिछले दो माह से बस्तर में मौसम में उतार-चढ़ाव का दौर जारी है। अंधड़, बारिश, ओलावृष्ट, वज्रपात और तेज गर्मी सभी का स्वरूप इन दो महीनों में दिखाई दिया है। पिछले एक सप्ताह तक लगातार 40 डिग्री से अधिक तापमान से लोग परेशान रहे हैं। इस बीच एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। शुक्रवार को सुबह से दोपहर दो बजे तक सूर्यदेव ने जमकर तपाया और इसके बाद एक घंटे तक हुई झमाझम बारिश से मौसम में ठंडक घुल गई।

बारिश से पहले अंधड़ भी डराने में पीछे नहीं रहा। बारिश गर्मी से लोगों को राहत तो मिली लेकिन शहर के कुछ क्षेत्राें में कचरे से जाम नालियां और पानी निकासी की उचित व्यवस्था का आभाव भी दिखाई दे गया। उफान पर आई नालियों का पानी कचरे के साथ सड़क पर आ गया। इसके कारण लोगों को आवागमन में परेशानी हुई। शहीद पार्क तिराहा में शाम पौने चार बजे बारिश थमने के एक घंटे बाद तक सड़क पर पानी भरा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button