पीएम मोदी ने जय जोहार से किया छत्तीसगढ़ की जनता का स्वागत, 10 केंद्रीय योजनाओं का किया शिलान्‍यास और लोकापर्ण

 रायपुर .

साइंस कॉलेज मैदान में विभिन्‍न केंद्रीय योजनाओं का भूमिपूजन और शिलान्‍यास करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि छत्‍तीसगढ़ की विकास यात्रा में आज का दिन बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। आज छत्‍तीसगढ़ को सात हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उपहार मिल रहा है। ये उपहार इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए है। कनेक्टिविटी के लिए है। ये उपहार छत्‍तीसगढ़ के लोगों का जीवन आसान बनाने के लिए है। यहां के स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए है। वहीं, इस दौरान पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ में कई योजनाओं का शिलान्यास किया है और करोड़ों रुपए की सौगात दी इस दौरान पीएम मोदी ने जनसभा को भी संबोधित किया।

 सभा में शामिल होने पहुंच रहे तीन कार्यकर्ताओं की मौत पर उन्होंने दुख जताया। घायलों के जल्द ठीक होने की कामना की।

पीएम मोदी ने अपने भाषण में जहां केंद्र सरकार की योजनाओं की तारीफ की वहीं कांग्रेस सरकार की जमकर खिंचाई करते हुए कहा ये करप्शन और कुशासन का मॉडल बन चुकी है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7600 करोड़ के कई योजनाओं की सौगात दी। साइंस कॉलेज ग्राउंड के मंच से उन्होंने जनसभा को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा की बड़ी बातें

  •     कांग्रेस के पंजे ने ठान लिया है कि वो छत्तीसगढ़ के लोगों को लूट लूट कर बर्बाद कर देगा।
  •     इस राज्य के निर्माण में भाजपा की बड़ी भूमिका रही है। भाजपा ही छत्तीसगढ़ के लोगों को समझती है, इसलिए दिल्ली से पूरी ताकत लगा रही है।
  •     इसीलिए आज 7 हजार करोड़ से ज्यादा की परियोजनाओं का लोकार्पण, शिलान्यास हुआ है
  •     अगले 25 साल छत्तीसगढ़ के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके सामने एक बड़ा पंजा खड़ा हो गया है
  •     कांग्रेस के पंजे ने ठान लिया है कि वो छत्तीसगढ़ के लोगों को लूट लूट कर बर्बाद कर देगा
  •     गंगा जी की झूठी कसम खाने का पाप कांग्रेस ही कर सकती है, गंगा जी हाथ में लेकर दावा किया था, लेकिन आज घोषणा पत्र की याद दिलाते ही कांग्रेस की याददाश्त चली जाती है
  •     इनके फरेब की पोल खोलने के लिए इनके एक वादे की याद दिलाना चाहता हूं, वो वादा था शराबबंदी लागू करने का। कहा था कि अनुसूचित क्षेत्र में ग्राम सभाओं को शराबबंदी का अधिकार दिया जाएगा, लेकिन हजारों करोड़ रुपए का शराब घोटाला कर दिया है
  •     इसकी पूरी जानकारी अखबारों में भरी पड़ी है, कांग्रेस ने यहां की माताओं बहनों से छग से धोखा किया
  •     आरोप है कि कमीशन के पैसे उगाहे जाते थे वो कांग्रेस पार्टी के खाते में जाते थे
  •     इसी घोटाले के कारण यहां ढाई ढाई साल मुख्यमंत्री वाला फार्मूला लागू नहीं हो पाया
  •     कांग्रेस के लिए छग एटीएम है
  •     बीते तीन चार वर्षों में जो चुनाव देश में हुए उसकी जिम्मेदारी यहां के नेताओं को इसीलिए दी जाती थी
  •     यहां कोई विभाग, काम ऐसा नहीं है जिसमें घोटाला नहीं है, सेंड माफिया, लैंड माफिया, कोल माफिया न जाने कैसे कैसे माफिया यहां फल फूल रहे हैं
  •     9 साल पहले छत्तीसगढ़ के 30 फीसदी गांवों से ज्यादा में मोबाइल कनेक्टिविटी नहीं थी अब यह 6 प्रतिशत रह गई है।
  •     रायपुर-धनबाद, रायपुर-विशाखापट्टनम कारीडोर से यहां की विकास की नयी गाथा लिखी जाएगी।
  •     माइंस और मिनरल एक्ट बदले जाने के बाद छत्तीसगढ़ क अधिक पैसा मिला। 2014 में प्रदेश को 13 सौ करोड़ मिले थे, लेकिन 20-21 तक बढ़कर 2800 करोड़ रुपए रायल्टी मिलने लगी।
  •     डीएमएफ राशि बढ़ी तो जिलों का विकास बढ़ा।
  •     छग में 1 करोड़ 60 लाख से ज्यादा जनधन खाते खुले। इनमें गरीबों के 6 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा जमा हैं।
  •     युवाओं को स्वरोजगार के लिए 40 हजार करोड़ रुपए से अधिक मदद दी गई है।
  •     कोरोना काल में छत्तीसगढ़ के 2 लाख उद्यमियों को 5 हजार करोड़ रुपए की मदद दी।
  •     60 हजार से ज्यादा रेहड़ी-पटरी वालों को नगद मदद दी गई।
  •     मनरेगा में 25 हजार करोड़ रुपए की मदद दी।
  •     आयुष्यमान योजना के तहत छग के 75 लाख लोगों को मदद की जा रही है।
  •     आयुष्यमान कार्ड पूरे देश में कहीं भी मदद दिला सकता है।
  •     विश्वास दिलाता हूं कि भारत सरकार छत्तीसगढ़ के हर व्यक्ति की मदद करती रहेगी।
  •     बच्चों के लिए स्कूल, सड़क, पानी की व्यवस्था हो
  •     भारत सरकार के प्रयासों से 1 करोड़ 60 लाख से ज्यादा जनधन खाते खोले गए हैं।

हम जितना मांगते हैं उससे ज्यादा मिलता है- भूपेश

मुख्यमंत्री बघेल ने बेहद संक्षिप्त संबोधन में कहा कि हम लगातार केंद्र से मदद मांगते रहते हैं। प्रधानमंत्री जी से भी लगातार संपर्क में रहते हैं। जितना मांगते हैं उससे ज्यादा मिला है। आगे भी हम छत्तीसगढ़ की समृद्धि के लिए मांग करते रहे हैं।

PM ने अंतागढ़ स्टेशन से पहली ट्रेन रवाना की

सड़क, पेट्रोलियम और दूसरे विभागों से जुड़ी योजनाओं के शुभारंभ के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाकर अंतागढ़ रेलवे स्टेशन से पहली ट्रेन रवाना की। बस्तर के इस इलाके को इसके साथ ही पहली ट्रेन मिली। ये प्रदेश के दूसरे हिस्सों से अब अंतागढ़ को जोड़ेगी। इसके बाद प्रधानमंत्री ने प्रदेश के अलग अलग हिस्सों से यहां पहुंचे आयुष्यमान योजना के हितग्राहियों को सीधी मदद दी।

पिछले नौ वर्षों में छत्‍तीसगढ़ के हजारों आदिवासी गांवों में प्रधानमंत्री ग्राीमण सड़क योजना के तहत सड़के पहुंची है। भारत सरकार ने यहां करीब साढ़े तीन हजार किलो मीटर लंबी नेशनल हाइवे की परियोजनाएं स्‍वीकृत की है। इनमें से लगभग तीन हजार किलो मीटर की परियोजनाएं पूरी भी हो चुकी हैं। इसी कड़ी में आज आज हाइवे का लोकापर्ण हुआ है। रेल हो रोड हो टेलीकॉम हो, हर तरह की कनेक्टिविटी के लिए पीछले नौ साल में भारत सरकार ने छत्‍तीसगढ़ में अभूतपूर्व काम किया है।

आधुनिक इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर का एक और बहुत बड़ा लाभ है जिस पर उतनी चर्चा नहीं हो पाती। आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का संबंध सामाजिक न्‍याय से भी है। जो सदियों ने अन्‍याय और असुविधा झेलते रहे उन तक भारत सरकार आज आधुनिक सुविधाएं पहुंचा रही है। गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी इनकी बस्तियों को आज ये सड़क ये रेल लाइने जोड़ रही हैं। दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाले मरिजों, माताओं- बहनों को आज अस्‍पताल पहुंचाने में सुविधा हो रही है। यहां के किसानों- मजदूरों को इससे सीधा लाभ हो रहा है। इसका एक और उदाहरण मोबाइल कनेक्टिविटी भी है। नौ साल पहले छत्‍तीसगढ़ के 20 प्रतिशत से ज्‍यादा गांवों में किसी तरह की मोबाइल कनेक्टिविटी नहीं थी, आज यह घटकर छह प्रतिशत रह गई है। मोबाइल पहुंचने से लोगों के जीवन में बदलाव आ रहा है। यही सामाजिक न्‍याय है और यहीं सबका साथ सब का विकास है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button