ऑपरेशन कावेरी: अब तक 530 भारतीयों को सुरक्षित निकाला गया

जेद्दाह

सूडान में फंसे भारतीयों को न‍िकालने के ल‍िए ऑपरेशन कावेरी जारी है। भारतीयों को IAF C-130J विमान में पोर्ट सूडान से जेद्दा लाया जा रहा है। सूडान से अब तक 530 भारतीयों को निकाला गया है।भारतीय वायु सेना के अधि‍कारी देशवास‍ियों की हर तरह से मदद को तैयार हैं। इस बीच एक बेहद मार्म‍िक और द‍िल को खुश करने वाली तस्‍वीर सामने आई है। यह तस्‍वीर एक भारतीय वायु सेना गरुड़ विशेष बल अधिकारी की है, जो एक बच्‍ची को गोद में लेकर व‍िमान में ले जा रहे हैं। भारतीय वायु सेना गरुड़ विशेष बल के अधि‍कारी ने बच्‍ची को बेहद से प्‍यार से गोद में उठाया हुआ है और उसके स‍िर पर हाथ रखकर उसे व‍िमान में ले जा रहे हैं। इसका वीड‍ियो भी सामने आया है। वायु सेना के अधि‍कारी की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं।

भारत ने सैन्य विमानों और युद्धपोतों को क‍िया तैनात

भारतीयों को सूडान से निकालने के लिए भारत ने अपने सैन्य विमानों और युद्धपोतों को तैनात कर दिया है। पोर्ट सूडान से 135 भारतीयों का तीसरा जत्था IAF C-130J विमान से जेद्दा पहुंच गया है। इससे पहले सूडान में फंसे 121 भारतीयों का दूसरा जत्था IAF C-130J विमान में पोर्ट सूडान से जेद्दा के लिए रवाना हुआ। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा क‍ि भारतीयों को जेद्दा बंदरगाह पर रिसीव कर खुशी हुई। जेद्दा में उत्कृष्ट समर्थन के लिए सऊदी अधिकारियों का धन्यवाद। विदेश मंत्री डॉ.एस जयशंकर ने ट्वीट किया, "मैं सऊदी अरब के विदेश मंत्री फैसल बिन फरहान और सऊदी अरब के अधिकारियों को उनके पूर्ण सहयोग के लिए धन्यवाद देता हूं।"

जल्‍द भारत लाए जाएंगे सभी भारतीय : केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने ट्वीट किया, "जेद्दा पहुंचे सभी लोगों के लिए भारत की आगे की यात्रा जल्द ही शुरू होगी।"

सूडान से अब तक 530 को न‍िकाला गया

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, सूडान से अब तक निकाले गए भारतीयों की कुल संख्या लगभग 530 है। 'ऑपरेशन कावेरी' के तहत भारत ने जेद्दा में एक पारगमन सुविधा स्थापित की है और सभी भारतीयों को सूडान से निकालने के बाद सऊदी अरब के जेद्दा शहर ले जाया गया है।

भारत ने मंगलवार को हिंसाग्रस्त सूडान से अपने 278 नागरिकों के पहले जत्थे को आईएनएस सुमेधा के जरिये निकाला और वहां फंसे शेष भारतीयों के लिए जरूरी राहत सामग्री पहुंचायी। इसके कुछ ही घंटे बाद भारतीय वायु सेना का परिवहन विमान सी130जे ‘पोर्ट सूडान' में उतरा ताकि और भारतीय नागरिकों को वहां से निकाला जा सके। इसके बाद अन्य सी130जे विमान से नागरिकों को निकाला गया। विदेश मंत्री एस. जयशंकर के अनुसार, पहले सी130जे विमान के माध्यम से 121 नागरिकों को और दूसरे विमान से 135 लोगों को बाहर निकाला गया। भारत ने सऊदी अरब के शहर जेद्दा में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है ताकि सूडान से भारतीय नागरिकों को निकालने में सुविधा हो सके।

ज्ञात हो कि सूडान में करीब 3000 भारतीयों को निकालने के लिए अभियान शुरू किया गया है। बहरहाल, विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन निकासी अभियान पर नजर रखने के लिए जेद्दा पहुंच गए हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया था कि सूडान से निकासी अभियान में भारतीय नौसेना का एक और जहाज आईएनएस तेग शामिल हो गया है। प्रवक्ता ने बताया, ‘‘आईएनएस तेग सूडान के बंदरगाह पर पहुंच गया है। इसमें और अधिकारी तथा वहां फंसे भारतीयों के लिए राहत सामग्री है। इससे सूडान के बंदरगाह पर कैम्प कार्यालय में निकासी प्रयासों को बल मिलेगा।

 ज्ञात हो कि सूडान में सेना और अर्द्धसैनिक समूह के बीच सत्ता हासिल करने के लिए भीषण संघर्ष जारी है। पिछले 12 दिनों से जारी भीषण लड़ाई में 400 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, सूडान में दोनों पक्षों के 72 घंटे के संघर्ष विराम पर सहमत होने के बाद भारत ने वहां फंसे अपने नागरिकों को बाहर निकालने के प्रयास तेज कर दिये हैं। विदेश राज्य मंत्री मुरलीधरन ने निकासी अभियान के बारे में कहा था कि सूडान के बंदरगाह और जेद्दा में जरूरी आधारभूत ढांचा तैयार किया गया है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button