मंत्री हिना रब्बानी का सीक्रेट मेमो हुआ लीक, अमेरिका-चीन के बीच फंसा पाक

इस्लामाबाद

पाकिस्तान इन दिनों आर्थिक और राजनीतिक बदहाली से जूझ रहा है। वहीं बात करें विदेश नीति की तो पाकिस्तान की आलोचना खुद उनके पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान भी कर चुके हैं। हाल ही में इमरान खान ने कहा था कि पाक सरकार को भारत से विदेश नीति के बारे में सीखना चाहिए। अब एक अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान की विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार ने भी विदेश नीति को लेकर पाकिस्तान का आईना दिखाया है। उन्होंने है कि अमेरिका को खुश करने के लिए चीन के साथ संबंधों में समझौता करना ठीक नहीं है।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक खार ने कहा था कि अमेरिका और चीन के बीच बैलेंस बनाने की कोशिश करना पाकिस्तान के लिए बेकार है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के पॉलिसी मेकर अमेरिका और चीन के बीच चल रहे टकराव की चुनौती से निपटने का रास्ता तलाश रहे हैं। खुफिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उनके हाथ खार का लिखा हुआ मेमो भी लगा है।

बता दें कि इन दिनों अमेरिका और चीन के बीच ताइवान के अलावा भी कई मुद्दों पर टकराव चल रहा है। चीन अपनी वैश्विक  पहुंच बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में वह अमेरिका की कमजोर नस टटोल रहा है। हाल ही में उसने सऊदी अरब और ईरान के बीच बातचीत के जरिए दोस्ती करवाई। वहीं वह यूरोप में भी पैठ बढ़ाने की कोशिश में लगा हुआ है। हाल ही में फ्रांस के राष्ट्रपति और जर्मन चांसलर भी बीजिंग दौरे पर पहुंचे थे। वहीं बात करें पाकिस्तान और चीन के संबंधों की तो पाकिस्तान पहले से ही चीन के कर्ज और अहसान तले दबा हुआ है।

यूएस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उनके हाथ खार का जो मेमो लगा है उसका शीर्षक है, 'पाकिस्तान्स डिफिकल्ट चॉइसेज।' एआरआई न्यूज के मुताबिक खार ने इस में कहा कि पाकस्तान को पश्चिमी देशों और अमेरिका को खुश करने के लिए चीन के साथ संबंधों में समझौता करना बंद करना चाहिए। इसमें कहा गया कि पाकिस्तान को चीन के साथ वास्तविक रणनीतिक साझेदारी जारी रखनी चाहिए। वहीं दूसरे दस्तावेजों की बात करें तो इसमें कहा गया है कि यूएन में रूस के खिलाफ वोट करने के लिए पाकिस्तान पर पश्चिमी देश दबाव बना रहे हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button