मणिपुरः हथियार लूटने को सुरक्षाबलों पर भीड़ ने किया हमला, गोलीबारी में एक की मौत

इंफाल
मणिपुर सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि राज्य में धीरे-धीरे हालात काबू में आ रहे हैं। हालांकि अब भी कई जगहों से हिंसा की खबरें आ रही हैं। मंगलवार को थौबल जिले में भीड़ ने तीसरी इंडिया रिजर्व बटालियान पर धावा बोल दिया। वे जवानों से हथियार छीनना चाहते थे। तभी गोलीबारी शुरू हुई जिसमें 27 साल के एक युवक मारा गया। इससे कुछ समय पहले ही चुराचांदपुर में कुकी समुदाय के संगठन के प्रवक्ता के घर में आग लगा दी गई।

बता दें कि दो दिन पहले ही कुकी समुदाय के संगठनों ने नेशनल हाइवे-2 को खोलने का फैसला किया है। सूत्रों का कहना है कि वांगबल में आईआरबी कैंप पर लोगों ने पत्थरों से हमला कर दिया। इसके बाद पहले सुरक्षाकर्मियों ने आंसू गैस छोड़ी। फिर लोगों को तितर-बितर करने के लिए गोली चलानी पड़ी। इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हो गई। मरने वाले का नाम अबुजम रोनाल्डो बताया गया है जो कि हेइरोक का रहने वाला है।

गोली लगने के बाद उसे इंफाल के अस्पताल में ले जाया गया है जो कि वहां से 30 किमी की दूरी पर है। असम राइफल्स और सुरक्षाबलों की आवाजाही को रोकने के लिए प्रदर्शनकारियों ने इंफाल-मोरेह नेशनल हाइवे को ब्लॉक कर दिया। वहीं अब इस इलाके में कर्फ्यू में ढील देने का समय घटाकर दोपहर 12 बजे तक ही कर दिया गया है।

माना जा रहा है कि बिष्णुपुर और चुरचांदपुर बॉर्डर पर ग्राम स्वयंसेवकों की हत्या के बाद भीड़ ने इस तरह से हथियार लूटने की कोशिश की है। चुराचांदपुर जिले में कुकी नेशनल ऑर्गनाइजेशन के प्रवक्ता सेइलेन होआकिप ने कहा कि एक समूह सीजफायर पर सहमत नहीं है इसीलिए वह हमले कर रहा है। बता दें कि मुख्यमंत्री ने कक्षा 1 से 8 तक के स्कूल खोलने का ऐलान कर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button