माउंट एवरेस्ट पर रिकॉर्ड बनाने की जिद ने ली जान, नेपाल में भारतीय महिला पर्वतारोही की मौत

नेपाल
माउंट एवरेस्ट को फतह करने के लिए पेसमेकर पर एशिया की पहली महिला बनने का नया विश्व रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य रखने वाली 59 वर्षीय भारतीय पर्वतारोही की नेपाल में दुनिया की सबसे ऊंची चोटी के आधार शिविर में बीमार पड़ने के बाद गुरुवार को मौत हो गई। नेपाल के पर्यटन विभाग के निदेशक युवराज खातीवाड़ा ने कहा कि सुजैन लियोपोल्डिना जीसस को माउंट एवरेस्ट आधार शिविर में अनुकूलन अभ्यास के दौरान कठिनाइयों का सामना करने के बाद सोलुखुम्बु जिले के लुकला शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था और गुरुवार को उनका निधन हो गया।

डॉक्टर की सलाह को कर दिया था नजरअंदाज खातीवाड़ा ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि पेसमेकर से लैस सुज़ैन को माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के प्रयास को छोड़ने के लिए कहा गया था, क्योंकि वे आधार शिविर पर अनुकूलन अभ्यास के दौरान सामान्य गति बनाए रखने में विफल रहे थे और चढ़ाई में कठिनाई दिखा रहे थे। सुजैन ने दृढ़ता से सलाह से इनकार कर दिया, यह कहते हुए कि उसे 8,848.86 मीटर ऊंची चोटी पर चढ़ना पड़ा क्योंकि उसने पहले ही पहाड़ पर चढ़ने की अनुमति प्राप्त करने के लिए शुल्क का भुगतान कर दिया था।
अभियान के आयोजक ने दी ये जानकारी अभियान के आयोजक, ग्लेशियर हिमालयन ट्रेक के अध्यक्ष डेंडी शेरपा ने कहा कि माउंट एवरेस्ट आधार शिविर से थोड़ा ऊपर 5,800 मीटर तक चढ़ने वाली सुजैन को बुधवार शाम को जबरन लुकला शहर ले जाया गया और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। हमें उन्हें जबरदस्ती लुकला वापस ले जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि सुजैन को निकालने के लिए एक हेलीकॉप्टर किराए पर भी लिया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button