भारत ने 1983 विश्व कप किस्मत से जीता, हमें एक बेहतर टीम ने नहीं हराया : एंडी रॉबर्ट्स

नई दिल्ली
भारत ने साल 1983 में अपना पहला वनडे क्रिकेट विश्व कप जीतकर इतिहास रचा था। 1983 में भारतीय टीम ने उस समय की सबसे प्रबल दावेदार वेस्टइंडीज को मात दे सभी को चौंका दिया। वनडे विश्व कप 1983 के फाइनल में भारत ने बल्लेबाजी, फील्डिंग और गेंदबाजी सभी पहलू में शानदार प्रदर्शन किया और चैंपियंस का खिताब अपने नाम किया। हालांकि, अब वेस्टइंडीज के महान गेंदबाज एंडी रॉबर्ट्स ने कहा है कि भारत ने यह विश्व कप भाग्य से जीता था।
 
1983 विश्व कप में एंडी रॉबर्ट्स वेस्टइंडीज टीम का हिस्सा थे और सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक थे। उनका मानना है कि उनकी टीम सबसे बेहतर थी, लेकिन भारत को किस्मत का साथ मिला, जिसके चलते भारत विश्व चैंपियन बना। एंडी रॉबर्ट्स ने कहा, "हमारी टीम ने विश्व चैंपियन भारत को बाद में वनडे और टेस्ट सीरीज में बुरी तरह से हराया था। हम फॉर्म में थे, लेकिन 1983 विश्व कप में भारत की किस्मत थी, लेकिन विश्व कप के बाद में हमने भारत को 6-0 से हराया। यह बस वही खेल था। फाइनल में हम 180 के करीब आउट हो गए और इसके बाद भारत को भाग्य का साथ मिला।"

भारत और वेस्टइंडीज के बीच विश्व कप 1983 के दौरान 3 मुकाबले खेले गए थे और भारत ने फाइनल सहित 2 मुकाबलों में जीत हासिल की थी। एंडी रॉबर्ट्स ने कहा कि फाइनल मुकाबले में हमें बेहतर टीम ने मात नहीं दी थी। उन्होंने कहा, "हमें भारत ने मात दी और जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। आप कुछ मैच जीतते हैं और कुछ हारते हैं। हमें उस समय एक बेहतर टीम ने मात नहीं दी, लेकिन क्रिकेट एक ऐसा खेल है जहां आपको मैच के हर समय दौरान शीर्ष पर रहना होता है। हमने विश्व कप फाइनल में भारत को अंत तक मात दी और लोग क्रिकेट को भाग्य और संयोग के पक्ष को नहीं देखते। 1983 तक हमने विश्व कप का कोई मैच नहीं हारा था, लेकिन 1983 में हम दो बार हारे थे। 1975 से 1983 विश्व कप में और भारत ने ही हमें दोनों बार हराया था।"

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button