MSCI इंडेक्स से भी अब HDFC हुआ बाहर, 13 जुलाई से HDFC बैंक की एंट्री

नई दिल्ली

ग्लोबल स्टैंडर्ड इंडेक्स मॉर्गन स्टेनले कैपिटल यानी MSCI ने HDFC बैंक में हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (HDFC) के मर्जर के बीच एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल, आगामी 13 जुलाई से इस इंडेक्स में HDFC की जगह  HDFC बैंक लेगा। बता दें कि HDFC और HDFC बैंक ने 1 जुलाई को अपना 40 बिलियन डॉलर का मेगा मर्जर पूरा कर लिया। यह भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में सबसे बड़ा मर्जर बताया जा रहा है। इसके तहत शेयरधारकों के लिए HDFC के शेयरों को HDFC बैंक के शेयरों के साथ स्वैप करने के लिए 'रिकॉर्ड तिथि' भी निर्धारित कर दी गई है। शेयरों के स्वैपिंग की रिकॉर्ड तिथि 13 जुलाई की है।

शेयर स्वैप के तहत HDFC लिमिटेड के सभी शेयरधारकों के पास HDFC लिमिटेड के प्रत्येक 25 शेयरों के लिए HDFC बैंक के 42 शेयर होंगे। बता दें कि अब HDFC बैंक देश का सबसे बड़ा निजी बैंक होने के साथ-साथ भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है। वहीं, यह दुनिया के बड़े बैंकों में भी शुमार हो गया है।

मार्केट कैप में दूसरी बड़ी कंपनी: इस मर्जर के साथ HDFC बैंक की संयुक्त बाजार पूंजी 14,73,953 करोड़ रुपये होगी, जो टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज या टीसीएस की 12,07,669.91 करोड़ रुपये से अधिक है। इस तरह बाजार पूंजीकरण के मामले में एचडीएफसी बैंक रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बाद दूसरी सबसे मूल्यवान भारतीय कंपनी बन जाएगी।

क्या है बैंक का प्लान: HDFC बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी शशिधर जगदीशन के मुताबिक बैंक का लक्ष्य हर चार साल में दोगुना करना है। 1 जुलाई को बैंक में शामिल हुए एचडीएफसी के 4,000 से अधिक कर्मचारियों को लिखे पत्र में जगदीशन ने कहा कि भविष्य उज्ज्वल है, और विलय की संभावनाओं को साकार करने पर काम अब शुरू होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button