डॉक्‍टर की खुदकुशी करते हुए घरवाले मातम में, भाई समेत फरार हो गई प्रेमिका; तलाश में जुटी पुलिस

प्रयागराज
प्रयागराज के अल्लापुर इलाके में प्रेमिका से परेशान होकर फांसी लगाकर जान देने वाले एम्स रायबरेली के डॉक्टर सुभाष यादव के शव का पोस्टमार्टम शुक्रवार को हुआ। तीन डॉक्टरों के पैनल ने वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम में मौत की वजह हैंगिंग बताई है। दोपहर में पोस्टमार्टम हाउस पर जमा डॉ. सुभाष यादव के घरवाले और करीबी आक्रोशित दिखे। मामले में पुलिस ने भी कार्रवाई तेज कर दी है। शुक्रवार को पुलिस ने डॉ. सुभाष की प्रेमिका चंद्रप्रभा यादव और उसके भाई शिवराज यादव निवासी वीरपुर करछना की तलाश में छापामारी की। जार्जटाउन पुलिस का कहना है कि भाई-बहन दोनों ही भागे हुए हैं। उनकी तलाश की जा रही है। मामले में शुक्रवार को कई लोगों का बयान भी दर्ज हुआ।

एसआरएन अस्पताल में नर्सिंग ऑफिसर चंद्रप्रभा यादव और उसके भाई शिवराज के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज हुआ है। सुबह जार्जटाउन पुलिस डॉक्टर सुभाष यादव की प्रेमिका चंद्रप्रभा की तलाश में एसआरएन अस्पताल भी पहुंची। हालांकि चंद्रप्रभा वहां नहीं मिली। साथी नर्स से जानकारी कर पुलिस लौट गई। एक दरोगा को करछना भी भेजा गया। भाई-बहन रात से ही घर से हट गए हैं। मामले में डॉक्टर सुभाष के घरवालों का कहना है कि चंद्रप्रभा ने ही उसकी जान ली है। उसे जल्द से जल्द जेल भेजा जाए। मऊआइमा के छीमीताल रसूलपुर गांव के रहने वाले अभिमन्यु यादव के बेटे सुभाष यादव (28) ने गुरुवार को फांसी लगा ली थी।

शंकरघाट पर अंतिम संस्कार, बिलख रहा परिवार
पोस्टमार्टम के बाद डॉ. सुभाष का शव शंकरघाट पर ले जाया गया। दोपहर बाद वहीं शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान परिवार के लोग बिलखते रहे। डॉक्टर के भाई पवन कुमार ने कहा कि चंद्रप्रभाव और उसके परिवार वालों ने मेरे भाई का जीना हराम कर दिया था। उसे सजा दिलाकर रहेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button