अतिक्रमण ने रोकी सिक्सलेन की रफ्तार कलेक्टर के निर्देश के बाद भी नहीं हटे

कलेक्टर ने निरीक्षण कर लाल निशान लगाकर दिए थे कार्रवाई के निर्देश

शिखर वाणी, भोपाल। कोलार सिक्सलेन की डेड लाइन नवंबर 2023 तय की गई है यानी अब सात महीने का ही वक्त बचा है। बीते छह महीने से अब तक महज 25 फीसदी काम ही हो पाया है। ऐसे में इतने ही महीने में 75 फीसदी काम पूरा हो पाना मुश्किल है। बता दें कि मंदाकिनी से बीमाकुंज वाले हिस्से में सडक़ सीमा के दोनों तरफ अतिक्रमण है। कोलार सिक्सलेन की राह में 800 मीटर के हिस्से में दुकान-मकान और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बने हुए हैं। मंदाकिनी चौराहे के पास 300 मीटर में दोनों तरफ करीब 70 गुमठी, दुकानें और कांप्लेक्स बने हैं। इनमें 20 व्यवसायिक प्रतिष्ठान हैं। ज्यादातर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए हैं।

इसके अलावा चूना भट्टी चौराहा के 500 मीटर में बाउंड्रीवाल के कारण फुटपाथ, सीवेज व पानी की पालपलाइन का काम अटका हुआ है।  करीब पांच दिन पहले कलेक्टर आशीष सिंह ने सिक्सलेन रोड का निरीक्षण किया था। इस दौरान उन्होंने सडक़ निर्माण में बाधा बन रहे मकान-दुकानों पर लाल निशान लगाते हुए उन्हें हटाने की कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश पर मकान-दुकान पर लाल निशान तो लगा दिए गए हैं, लेकिन अब तक इन्हें हटाने की कार्रवाई शुरू नहीं की जा सकती है। इसी वजह से कोलार सिक्सलेन का काम पिछड़ता जा रहा है। अतिक्रमण के चलते इस हिस्से में सडक़ चौड़ीकरण का काम शुरू नहीं हो पा रहा है।

पैनाल्टी तगड़ी फिर भी काम सुस्त

बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोलार सिक्सलेन रोड का भूमिपूजन 29 अक्टूबर 2022 को किया था। उन्होंने घोषणा की थी कि यह जल्द से जल्द बनकर तैयार हो जाएगा। इतना ही नहीं, यदि एक दिन भी काम रुकता है और लेट होता है तो ठेकेदार पर प्रतिदिन के हिसाब से एक लाख रुपये की पेनल्टी लगाई जाएगी। बता दें कि 15 किलोमीटर के इस मार्ग को बनाने में 222 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं और इससे पांच लाख की आबादी को हर दिन फायदा मिलेगा।

अभी यह काम हो रहा है

  • सर्वधर्म ब्रिज के चौड़ीकरण का काम भी चल रहा है। पिछले साल सितंबर में 5 करोड़ रुपए से 13 मीटर चौड़ेे नए ब्रिज का निर्माण शुरू हुआ था। यह अगले महीने के आखिर तक तैयार हो जाएगा।
  • गोल जोड़ से कोलार गेस्ट हाउस तक 15 किमी लंबी सिक्स लेन रोड का काम भी तेज गति से चल रहा है। अक्टूबर में हुए भूमिपूजन के बाद 6 महीने में गोल जोड़ से गेहूंखेड़ा तक 7 किमी तक सिक्स लेन की एक साइड तैयार हो गई है।
  • कम से कम 10 पुल-पुलिया का निर्माण चल रहा है। केरवा प्रोजेक्ट की पाइप लाइन शिफ्ट हो रही है। बिजली के खंभे भी शिफ्ट किए जा रहे हैं। नियमित मॉनिटरिंग के चलते काम तेजी से चल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button