एकनाथ शिंदे को इस्तीफा देने के लिए कहा गया, आदित्य ठाकरे का दावा; फडणवीस से देर रात मिले CM

मुंबई
महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के बागी नेता अजित पवार ने शुक्रवार को एक बार फिर भारत के चुनाव आयोग समक्ष पार्टी के नाम और चुनाव चिह्न के लिए अपना दावा दोहराया है। एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि अजित पवार को सर्वसम्मति से पार्टी अध्यक्ष चुना गया और उन्होंने शरद पवार द्वारा नई दिल्ली में आयोजित पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक को अनौपचारिक करार दिया।

दूसरी तरफ शिवसेना (यूबीटी) नेता आदित्य ठाकरे ने दावा किया कि सीएम एकनाथ शिंदे को इस्तीफा देने के लिए कहा गया है। हालांकि, शिंदे ने जोर देकर कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना-भाजपा सरकार में अजित पवार की एंट्री से उन्हें कोई खतरा नहीं है।

महाराष्ट्र की राजनीति के बड़े अपडेट्स:
>> महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार देर रात सीएम एकनाथ शिंदे के साथ उनके आवास पर बैठक की।

>> महाराष्ट्र में शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना-बीजेपी-एनसीपी (अजित पवार गुट) सरकार में उथल-पुथल की अफवाह पर एएनआई से बात करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा, ''मैंने सुना है कि सीएम एकनाथ शिंदे को इस्तीफा देने के लिए कहा गया है। हो सकता है कि सरकार में कुछ बदलाव देखने को मिले।"

>> एनसीपी अजित पवार के नेतृत्व वाले गुट के नेता प्रफुल्ल पटेल ने शुक्रवार को पार्टी में विभाजन की खबरों का खंडन किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि अजित पवार को सर्वसम्मति से पार्टी अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा, ''एनसीपी ने 30 जून को देवगिरी में कई विधायकों और एमएलसी की मौजूदगी में एक बैठक की। उस बैठक में अजित पवार को नेता चुना गया। इसके बाद उन्होंने प्रफुल्ल पटेल को राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया। ये कोई बंटवारा नहीं है। विधायिका और संगठन बहुमत के साथ अजित पवार का समर्थन करते है।'

>> प्रफुल्ल पटेल ने यह भी कहा कि गुरुवार को दिल्ली में शरद पवार द्वारा आयोजित पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक आधिकारिक नहीं थी।

>> महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) प्रमुख राज ठाकरे ने मुंबई में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से उनके आवास 'वर्षा' पर मुलाकात की। एकनाथ शिंदे ने बैठक के बारे में ट्वीट किया और कहा कि दोनों नेताओं ने नासिक जिले में कृषि ऋण, मुंबई में बीडीडी चॉल के पुनर्विकास में स्थानीय निवासियों के मुद्दों और राज्य एजेंसी सिडको द्वारा घर की कीमतों में कमी पर चर्चा की।

>> महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शुक्रवार को कहा कि शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना और भाजपा गठबंधन में एनसीपी के बागी नेता अजित पवार के प्रवेश से उन्हें कोई खतरा नहीं है। शिंदे ने डीडी न्यूज को बताया, "अजित पवार ने खुद कहा है कि यह शरद पवार ही थे जो पहले 2017 और 2019 में भाजपा के साथ गठबंधन चाहते थे, लेकिन बाद में यू-टर्न ले लिया।"

>> शिवसेना (यूबीटी) नेता नीलम गोरे मुंबई में सीएम एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में पार्टी के शिंदे-गुट में शामिल हुईं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button