हरियाणा रेंजर भर्ती में PMT छाती मापने के मापदंड के पर विवाद

  चंडीगढ़
हरियाणा सरकार के फॉरेस्ट रेंजर, डिप्टी फॉरेस्ट रेंजर और फॉरेस्टर पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी होने के बाद नया विवाद शुरू हो गया है. हरियाणा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (HSSC) द्वारा जारी नोटिफिकेशन में हरियाणा में वन विभाग में रिक्त पदों के लिए महिला उम्मीदवारों के फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट (PMT) में छाती मापने के मापदंड दिए गए हैं. बकायदा नोटिस जारी करके कहा गया है कि इन सभी पोस्ट के लिए महिला उम्मीदवारों का अनएक्सपेंडेड चेस्ट 74 सेंटीमीटर व एक्सपेंडेड चेस्ट 79 सेंटीमीटर होना चाहिए. विपक्ष ने इसे खट्टर सरकार का तुगलकी फरमान बताया है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस मामले पर हरियाणा सरकार को आड़े हाथ लिया है. रणदीप सुरजेवाला का कहना है कि केंद्रीय रिज़र्व पुलिस NDA यहां तक कि जो घने जंगलों वाले राज्य हैं, जहां पर फ़ॉरेस्ट गार्ड बड़ी संख्या में नियुक्त किए जाते हैं वहां पर इस तरह की भर्ती प्रक्रिया में छाती नापने को शामिल नहीं किया गया है तो आख़िरकार हरियाणा में ये रूल क्यों लागू किया गया. हरियाणा सरकार तुरंत प्रभाव से इस नियम को ख़त्म करें और सभी आवेदकों को मौका दे.

कांग्रेस महासचिव व सांसद रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट करके खट्टर व दुष्यंत सरकार को तुग़लक़ी फ़रमान पर चेताया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'अब हरियाणा की बेटियों की “छातियाँ मापेंगे” – फारेस्ट रेंजर व डिप्टी फारेस्ट रेंजर की भर्ती के लिए! 7 जुलाई, 2023 को बाक़ायदा नोटिस जारी कर कहा है कि इन दोनों पोस्ट के लिये उम्मीदवार युवतियों/महिलाओं का “अनएक्सपेंडेड चेस्ट” 74 सैंटी मीटर व “एक्सपेंडेड चेस्ट” 79 सैंटी मीटर होनी चाहिए.'
 
बेटियों से माफ़ी मांगे सीएम खट्टर: सुरजेवाला

सुरजेवाला ने ट्वीट में आगे लिखा कि क्या खट्टर जी-दुष्यंत चौटाला जानते नहीं कि हरियाणा में महिला पुलिस कांस्टेबल व महिला SI पुलिस की भर्ती में भी उम्मीदवार युवतियों की “छाती” नहीं मापी जाती? क्या खट्टर जी-दुष्यंत चौटाला जानते नहीं कि सेंट्रल पुलिस ऑर्गेनाइज़ेशन में भी महिलाओं की “छाती” मापने का कोई मापदंड नहीं? फिर हरियाणा की बेटियों को अपमानित करने के लिए  फारेस्ट रेंजर व डिप्टी रेंजर की भर्ती में ये क्रूरतापूर्ण, बचकाना व बेवकुफ़ाना शर्त क्यों? हमारी मांग है कि खट्टर साहेब फ़ौरन हरियाणा की बेटियों से माफ़ी मांगे तथा ये शर्त वापस लें. उन्होंने कहा कि CET की खामियां दूर किए बग़ैर व रिवाइज़्ड रिजल्ट निकाले बग़ैर व सभी CET क्वालिफाइड बच्चों को मौक़ा दिए बग़ैर इस पूरी प्रक्रिया को रोकना चाहिए. इसे आप हरियाणा के युवाओं की चेतावनी मानें.

    खट्टर सरकार का नया “तुगलकी” फ़रमान !

    अब हरियाणा की बेटियों की “छातियाँ मापेंगे” – फारेस्ट रेंजर व डिप्टी फारेस्ट रेंजर की भर्ती के लिए !

    7 जुलाई, 2023 को बाक़ायदा नोटिस जारी कर कहा है कि इन दोनों पोस्ट के लिये उम्मीदवार युवतियों/महिलाओं का “अनएक्सपेंडेड चेस्ट” 74 सैंटी मीटर।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button