CM शिवराज ने दिग्‍विजय और कमल नाथ की तुलना कोरोना वायरस से की

 भोपाल.

मप्र विधानसभा के इस चुनावी साल में नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। अब तो कोरोना के बहाने भी सियासी आरोप-प्रत्‍यारोप का खेल चल रहा है। कुछ दिन पहले प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने दिग्‍विजय सिंह की कोरोना से तुलना करते हुए कहा कि उन्‍हें चीन में पैदा होना चाहिए। इस पर दिग्‍विजय ने पलटवार करते हुए कहा था कि मैं भाजपा और आरएसएस के लिए कोरोना वायरस हूं। अब सीएम शिवराज ने दिग्‍विजय के इस बयान पर चुटकी लेते हुए उनके साथ-साथ कमल नाथ पर भी निशाना साधा है।

 सीएम शिवराज ने कहा कि दिग्‍विजय सिंह ने बिल्‍कुल ठीक तुलना की है। कोविड ने वायरस के रूप में जितना नुकसान पहुंचाया था, उससे कई गुना ज्यादा नुकसान दिग्विजय सिंह और कमल नाथ ने मध्‍य प्रदेश को पहुंचाया है। मुझे तो आश्चर्य लगता है कि उन्हें तुलना के लिए और कोई वायरस नहीं मिला। उन्हें कोविड या कोरोना वायरस ही मिला। वह कोरोना वायरस, जिसके चलते हाहाकार मच गया था लोगों की जिंदगी गई थी अर्थव्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई थी। वो तो मोदी जी थे, जिनके नेतृत्‍व में एक नहीं, दो-दो वैक्‍सीन बनीं और कोविड का मुकाबला कर लिया गया। वरना कमल नाथ जी ने तो कोविड के भरोसे ही मध्य प्रदेश की जनता को छोड़ दिया था। जो करना है, कोविड ही करें।

शिवराज सिंह यहीं नहीं रुके। उन्‍होंने आगे कहा कि आज कोविड तो काबू में है, लेकिन कोरोना से ज्‍यादा नुकसान मध्‍य प्रदेश को, यहां की जनता को पहुंचाया है तो दिग्‍विजय सिंह और कमल नाथ ने पहुंचाया है। उन्‍होंने सवालिया अंदाज में कहा कि पूरे मध्य प्रदेश को तबाह और बर्बाद किसने किया? ना बिजली थी, ना सड़कें थीं, ना पानी था। ग्रोथ रेट नेगेटिव हो रही थी। 15 महीने की सरकार में भी इन्होंने प्रदेश को तबाह करने की कोशिश की थी।

 दिग्विजय-नरोत्तम में छिड़ी जुबानी जंग

सियासत जो न कराए कम है। अभी तक तो नेता एक दूसरे पर झूठे वादे, भ्रष्टाचार, जनता से छल, सत्ता के लिए खरीद फरोख्त जैसे आरोप लगाते आए हैं..लेकिन अब आरोपों की कड़ी और झड़ी में कोरोना वायरस भी अछूता नहीं रहा। इस वायरस का नाम सुनते ही लोग हाथ जोड़ लेते हैं..दुनियाभर में जिस तरह इसने त्राहि-त्राहि मचाई, उससे कोई अनजान नहीं। लेकिन अब बीजेपी और कांग्रेसी एक दूसरे पर कोरोना वायरस और कोरोना वैक्सीन के बहाने वार कर रहे हैं।

तुलसी सिलावट ने हाल ही में दिग्विजय सिंह को ‘कांग्रेस का कोरोना वायरस’ बताया था और कहा था कि उन्होने भगवान महाकाल से प्रार्थना है कि उनका अगला जन्म चीन में हो। इसके पलटवार में एक दिन पहले ही दिग्विजय सिंह ने कहा कि ‘हां..मैं भाजपा और संघ के लिए कोरोना वायरस हूं।’ इस तरह शिवराज सरकार के मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री के बीच कोरोना-रार शुरू हुई। अब इसमें मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा की भी एंट्री हो गई है।

नरोत्तम मिश्रा ने आज कहा कि ‘दिग्विजय सिंह ने खुद को कोरोना वायरल बताकर प्रमाणित कर दिया है कि ये कितने हानिकारक है। खुद को कोरोना बताने वाले दिग्विजय जी को ये नहीं पता कि भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी ने वो वैक्सीन बनाई है जिससे कोरोना वायरस मृतप्राय हो जाता है। इसलिए इनकी वैक्सीन भी हम लोगों के पास ही है।’ इस तरह अब तुलसी सिलावट-दिग्विजय सिंह और नरोत्तम मिश्रा की त्रिवेणी में बात कोरोना वायरल से होते हुए कोरोना वैक्सीन तक आ पहुंची है और गृहमंत्री ने कह दिया है कि अगर दिग्विजय सिंह कोरोना वायरस हैं तो इसका इलाज उनके पास है। अब देखना होगा कि इसके जवाब में दिग्विजय सिंह क्या कहते हैं और राजनीति का ये कोरोना प्रकरण किस हद तक संक्रमण फैलाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button