अमित शाह ने गुजरात में NACP का किया शिलान्यास, कहा- PM मोदी ने भारत के लिए बनाया सुरक्षा का सुदर्शन चक्र

द्वारका
 केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुजरात के दौरे पर थे। इस दौरान, उन्होंने गुजरात के द्वारका में नेशनल एकेडमी ऑफ कॉस्टल पुलिसिंग (NACP) के स्थायी परिसर का शिलान्यास किया। वहीं, उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने भारतीय नौसेना, इंडियन कोस्ट गार्ड, समुद्री पुलिस, कस्टम्स और मछुआरों के साथ मिलकर सुरक्षा का एक सुदर्शन चक्र बनाया है।

नेशनल एकेडमी ऑफ कोस्टल पुलिसिंग की रखी आधारशिला
अमित शाह ने द्वारका में 470 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले नेशनल एकेडमी ऑफ कोस्टल पुलिसिंग (एनएसीपी) के स्थायी परिसर की आधारशिला रखी। वहीं उन्होंने कहा कि खुले समंदर में भारतीय नौसेना के जहाज और विमानों द्वारा सुरक्षा की जाती है। मध्य समुद्र में भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल और टेरिटोरियल वाटर में बीएसएफ की वाटर विंग सुरक्षा का संचालन करते हैं। साथ ही यह भी कहा कि गांव में देशभक्त मछुआरे सूचना का माध्यम बनकर देश की सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं।

समुद्री तटों पर भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
गृह मंत्री ने कहा कि इन सभी आयामों पर भारत सरकार ने एक शांतिपूर्ण तटीय सुरक्षा नीति अपनाई है और एक एकीकृत दृष्टिकोण के माध्यम से देश के तटों को सुरक्षित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि तटीय सुरक्षा में लापरवाही के कारण हमारे देश को कई परिणाम भुगतने पड़े हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकि समुद्री तटों पर भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए गए हैं।

'मुबंई हमलों को नहीं भूला जा सकता'
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोई भी देशभक्त नागरिक 2008 के मुंबई हमले को नहीं भूल सकता जिसमें एक छोटी सी गलती के कारण 166 निर्दोष लोगों की जान चली गई थी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा विकसित तटीय सुरक्षा की नीति के बाद अगर दुश्मन ऐसी घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश करेगा तो उसे यहां से करारा जवाब मिलेगा। शाह ने कहा कि इसके लिए यह ट्रेनिंग बहुत जरूरी है।

मोदी सरकार ने तटीय सुरक्षा को किया मजबूत
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि कई स्तंभों पर इस तटीय सुरक्षा की नीति को तैयार किया गया है। इसमें तटीय सुरक्षा और इंटेलीजेंस के मामले में समन्वय और संवाद, संयुक्त तटीय गश्‍त द्वारा पेट्रोलिंग के प्रोटोकॉल तय करके निश्चित समय अंतराल पर पेट्रोलिंग की व्यवस्था, मछुआरों की सुरक्षा, 10 लाख से ज्यादा क्‍यूआर कोड वाले आधार कार्ड मछुआरों को देना, 1537 फिशलीडिंग पॉइंट्स पर सुरक्षा की व्यवस्था को सुनिश्चित करना और ब्लू इकोनामी के लिए बनाए हुए सभी मत्स्य बंदरगाहों पर सुरक्षा सुनिश्चित करना शामिल है। उन्होंने कहा कि इन सभी को जोड़कर तटीय सुरक्षा के लिए एक अभेद्य किला बनाने का काम मोदी सरकार ने किया है।

कांग्रेस पर शाह ने साधा निशाना
शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में पोरबंदर जेल को अधिसूचना जारी कर बंद करना पड़ा था और पोरबंदर तमाम तरह की चोरियों का केंद्र बन गया था। उन्होंने कहा कि जब से पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार आई है जेल फिर से शुरू हो गई और चोर यहां से भाग गए। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने गुजरात को सुरक्षित किया है, चाहे वह कच्छ की भूमि सीमा हो, सर क्रीक हो, हरामीनाला हो या पोरबंदर का समुद्री तट हो या द्वारका-ओखा-जामनगर-सलाया का समुद्री तट हो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button