रिमझिम बारिश के बीच सावन के मड़ई में महिलाओं का छलका उत्साह

रायपुर

नेताजी सुभाष स्टेडियम में सांस्कृतिक विवेकानंद उत्कर्ष परिषद् द्वारा मंगलवार की शाम आयोजित सावन के मड़ई में शामिल महिलाओं का उत्साह और दोगुना हो गया जब अचानक बारिश होने लगी और मौसम सुहाना हो गया। बारिश के बीच विभिन्न प्रतियोगिताओं में उन्होने हिस्सा लिया और पुरस्कार भी जीते। रस्सा खींच, गिल्ली डंडा, भौंरा चलाने से लेकर आंखों पर पट्टी बांधकर मटके को फोडना मतलब अपने हूनर का प्रदर्शन करना था।

सावन से जुड़े गीत गाकर भी महिलाओं ने खूब तालियां बंटोरी। कार्यक्रम में काफी बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थीं। महिलाओं का उत्साहवर्धन करने के लिए कार्यक्रम में रायपुर नगर निगम के सभापति श्री प्रमोद दुबे भी पहुंचे और उन्होने उपस्थित महिलाओं को सावन माह की शुभकामना देते हुए जीते हुए प्रतिभागियों को बधाई दी। उन्होने कहा कि साल दर साल सांस्कृतिक विवेकानंद उत्कर्ष परिषद का यह आयोजन और भी व्यापक हो रहा है इसमें आप सब की सहभागिता है। श्री दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की सरकार आने पर छत्तीसगढ़ के तीज त्यौहार और खान – पान के साथ विभिन्न आयोजनों को काफी प्रोत्साहन मिला है।

कार्यक्रम में सबसे पहले स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। पश्चात छत्तीसगढ़ महतारी की गीत गायन के बाद प्रतियोगिता की शुरूआत हुई। सांस्कृतिक विवेकानंद उत्कर्ष परिषद् की अध्यक्ष श्रीमती दीप्ति दुबे ने बताया कि पिछले आठ सालों से निरंतर सावन मड़ई का आयोजन किया जा रहा है। यह नौंवा आयोजन था। भगवान शिव भोले के आराधना का महीना सावन की शुरूआत हुई है,परिषद वैसे तो सामाजिक व सांस्कृतिक क्षेत्रों में साल भर कुछ न कुछ आयोजन करते रहती है लेकिन विशेष रूप से महिला समूह के लिए आयोजित सावन के मड़ई का बेसब्री से इंतजार रहता है। छत्तीसगढ़ की संस्कृति व परम्परा से जुड़े इस आयोजन में कुछ रोचक छत्तीसगढ़ी खेल भी उनके लिए रखे गए थे, इनमें जीतने वालों को आकर्षक पुरस्कार भी परिषद की ओर से प्रदान किए गया। संस्था के सचिव श्री सौरभ तिवारी ने संक्षिप्त में संस्था की वार्षिक गतिविधियों की जानकारी देते हुए सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। विजेता प्रतिभागियों को आकर्षक पुरस्कार भी संस्था की ओर से प्रदान किए गए।

प्रतियोगिता के विजेता रहे-
रस्सा खींच – प्रथम जिंदगी न मिलेगी दोबारा ग्रुप, द्वितीय सोशल संगवारी
टायर दौड़ – ज्योति शुक्ला – बबीता अग्रवाल
गिल्ली-डण्डा – अनिला देवांगन, बबीता अग्रवाल, इंद्राणी शर्मा व अनिता अग्रवाल
भौंरा – लता साहू, कमल सावरकर व रश्मि शर्मा
मटका फोड़ – मिथिलेश दुबे, रश्मि शुक्ला
चम्मच दौड़ – ज्योति शुक्ला, अनिला अग्रवाल, इंद्राणी,कमल सावरकर व रश्मि शुक्ला

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button