अंबानी और अडानी फिर आमने-सामने, एक कंपनी को खरीदने के लिए होगा मुकाबला

मुंबई

एक दिवालिया कंपनी खरीदने के लिए दिग्गज कंपनियों के बीच तगड़ा मुकाबला होने जा रहा है। रिलायंस इंडस्ट्रीज, अडानी पावर, टोरेंट पावर, वेदांता और जिंदल पावर समेत 14 कंपनियों ने गुजरात की कंपनी भद्रेश्वर विद्युत को खरीदने की दिलचस्पी दिखाई है। भद्रेश्वर विद्युत फिलहाल इनसॉल्वेंसी (दिवालिएपन) की प्रक्रिया से गुजर रही है। घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले लोगों ने यह बताया है। यह इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में कही गई है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज और अडानी ग्रुप ने दिखाई दिलचस्पी
यह (भद्रेश्वर विद्युत) तीसरी दिवालिया पावर कंपनी है, जिसके लिए देश के दो बड़े कॉरपोरेट हाउस- रिलायंस इंडस्ट्रीज और अडानी ग्रुप ने दिलचस्पी दिखाई है। इन दोनों दिग्गज कॉरपोरेट हाउसेज ने इससे पहले SKS पावर और लैंको अमरकंटक पावर के लिए रेजॉलूशन प्लान्स ऑफर किए थे, लेकिन दोनों ने आक्रामक तरीके से बिड्स नहीं कीं। घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले एक व्यक्ति ने यह बताया है।

इन कंपनियों ने भी जमा की हैं शुरुआती बिड्स
अभी SKS पावर और लैंको अमरकंटक पावर के रेजॉलूशंस प्लान अभी पूरे नहीं हुए हैं। रिलायंस और अडानी ग्रुप ने फ्यूचर रिटेल के लिए भी एक्सप्रेशंस ऑफ इंटरेस्ट सबमिट किया था। भद्रेश्वर विद्युत के लिए दिलचस्पी दिखाने वाली दूसरी कंपनियों में शेरिशा टेक्नोलॉजीज भी शामिल है। कंपनी ने हाल में अनिल जैन की कंपनी रेफेक्स इंडस्ट्रीज में 22.7 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदी है। सूत्रों का कहना है कि जेपी इस्कॉन, कांडला एग्रो एंड केमिकल्स और कच्छ केमिकल्स इंडस्ट्रीज ने भी शुरुआती बिड्स जमा की हैं। भद्रेश्वर विद्युत का पहले नाम OPGS पावर गुजरात था। यह OPG ग्रुप का प्रमोटेड स्पेशल पर्पल व्हीकल (SPV) है। गुजरात के कच्छ में कंपनी के कोल बेस्ड 2 पावर प्लांट्स हैं, जिनकी क्षमता 150MW है। पावर प्लांट्स की पहली यूनिट फरवरी 2015 में पूरी हुई थी, जबकि दूसरी यूनिट फरवरी 2016 में पूरी हुई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button