अजय आलोक BJP में शामिल हो रहे, JDU ने किया था बाहर

नईदिल्ली

जेडीयू के पूर्व प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक बीजेपी में शामिल हो गए। उन्होंने दिल्ली में शुक्रवार को बीजेपी दफ्तर में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने उनका बीजेपी में स्वागत किया। कभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खास रहे अजय आलोक को जेडीयू ने पिछले साल पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह का समर्थन करने की वजह से निष्कासित कर दिया था। इसके बाद से वे नीतीश के खिलाफ बयानबाजी करते हुए नजर आए। अब उन्होंने बीजेपी में एंट्री मार ली है।

अजय आलोक ने शुक्रवार को दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में पार्टी का दामन थामा। बीजेपी ज्वॉइन करने के बाद अजय ने पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों की तारीफ की और कहा कि उन्हें लग रहा है कि वे अपने परिवार में आ गए हैं। अजय आलोक को बीते साल जून महीने में जेडीयू से निष्कासित किया गया था। इसके बाद वे ट्विटर पर लगातार सक्रिय रहे। उन्होंने बीजेपी और नरेंद्र मोदी सरकार के समर्थन में कई ट्वीट किए। इसके अलावा नीतीश कुमार पर महागठबंधन के साथ सरकार बनाने को लेकर भी कई हमले किए। अब करीब 10 महीने बाद उन्होंने अपना नया ठिकाना तलाश लिया है।

आनंद मोहन मामले पर नीतीश पर निशाना
अजय आलोक ने मीडिया से बातचीत में शुक्रवार को कहा कि नीतीश कुमार को बहुत लोग पलटीमार कहते हैं जो बिल्कुल सही है। उन्होंने ही 87 साल बाद जेल मैन्युअल में संशोधन किया था और यह क्लॉज डाला था कि अगर सरकारी सेवक की हत्या होगी तो उसे कभी रिहा नहीं किया जाएगा। अब आनंद मोहन और बाकी कैदियों को उन्हें रिहा करना था इसलिए उन्होंने संशोधन कर दिया।

वहीं केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि अजय आलोक अपने तीखे विश्लेषण के लिए जाने जाते हैं और लंबे समय से सक्रिय राजनेता रहे हैं। उनके लिए राष्ट्र का विकास सर्वोप्परि है और बीजेपी ऐसे लोगों के साथ काम करने के लिए हमेशा तैयार है।

आरसीपी से नजदीकी के चलते जेडीयू से हुए थे बाहर
बीते साल जून महीने में जेडीयू ने अजय आलोक समेत चार नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया था। उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधि के चलते बर्खास्त किया गया था। उस समय आरसीपी सिंह की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जेडीयू नेतृत्व के साथ तनातनी चल रही थी और अजय आलोक उनके समर्थन में बयानबाजी कर रहे थे। अजय आलोक जेडीयू के प्रवक्ता रहे और टीवी डिबेट्स पर अक्सर जेडीयू का पक्ष रखते हुए नजर आए। जेडीयू से निकालने से पहले पार्टी ने उनके सार्वजनिक बयानबाजी पर रोक भी लगा दी थी।

अजय आलोक पेशे से डॉक्टर हैं और पटना के रहने वाले हैं। लोकसभा चुनाव से पहले के उनके बीजेपी में जाने के कई मायने निकाले जा रहे हैं। अजय एक युवा चेहरा हैं और टीवी डिबेट्स एवं अन्य मंचों पर बखूबी रूप से अपनी बात रखने में सक्षम हैं। बीते कई महीनों से वे महागठबंधन सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button