सिद्धारमैया की सरकार में एक दर्जन मंत्रियों को मिल सकती है जगह

कर्नाटक
कर्नाटक में सिद्धारमैया की अगुवाई वाली सरकार में माना जा रहा है कि 15 मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। लेकिन जिस तरह से जी परमेश्वर ने शपथ ग्रहण से पहले ही चेतावनी दी है कि अगर दलितों को नजरअंदाज किया जाता है को इसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे, उसने कांग्रेस के लिए 15 मंत्रियों को चुनने की राह को मुश्किल कर दिया है। वरिष्ठता, जाति और क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस मंत्रियों की पहली लिस्ट का चयन करने की कोशिश करेगी। उपमुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने जा रहे डीके शिवकुमार ने कहा है कि सिद्धारमैया और मैं शुक्रवार को दिल्ली जा रहे हैं, यहां आला कमान के साथ मंत्रियों के नाम पर चर्चा होगी।

गौर करने वाली बात है कि जिस तरह से सिद्धारमैया को मुख्यमंत्री की कुर्सी देने पर पार्टी तैयार हो गई है, उसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और शिवकुमार अपने करीबियों को मंत्रियों मंडल में शामिल कर सकते हैं।

कर्नाटक के नए CM सिद्धारमैया जिन्होंने सालों तक स्कूल का मुंह नहीं देखा, अब दोबारा बनेंगे मुख्यमंत्री कांग्रेस के 22 एससी, 15 एसटी उम्मीदवार इस बार कर्नाटक के चुनाव में जीते हैं। जिसमे परमेश्वर, केएच मुनियप्पा, एचसी महादेवप्पा, सतीश जरकिहोली, प्रियांक खड़गे, शिवराज तंगडागी, रूपकला एम व अन्य शामिल हैं। इससे पहले परमेश्वर ने कहा कि उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए, जब कांग्रेस-जेडीएस की सरकार थी तो परमेश्वर यह जिम्मेदारी दी गई थी। लेकिन जिस तरह से डीके शिवकुमार को उपमुख्यमंत्री बनाए जाने का ऐलान किया गया, उसके बाद परमेश्वर ने कहा कि पार्टी को दलित समुदाय की उम्मीदों का हर हाल में खयाल रखना चाहिए।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button