घर से America के लिए निकले थे 2 पंजाबी, हुआ कुछ ऐसा कि इंसाफ के लिए भटक रहा परिवार

अजनाला
 तहसील अजनाला के कस्बा गग्गोमहल के रहने वाले 2 लड़कों को ट्रेवेल एजेंट ने धोखे से अमरीका की बजाए  इंडोनेशिया भेज दिया, जहां उन्हें बेरहमी से पीटकर भूखा-प्यासा रखा गया। पीड़ितों के परिवार ने आरोप लगाए कि  अब दोनों को मौत के केस में  झूठा फंसा दिया है।

9 मई को दिल्ली हवाई अड्डे से  उतारा गया इंडोनेशिया
जानकारी के अनुसार तहसील अजनाला के कस्बा गग्गोमहल के रहने वाले साहिब सिंह पुत्र पूरन सिंह ने अपने परिजनों व अन्य रिश्तेदारों से बातचीत के दौरान कहा कि मेरे बेटे गुरमेज सिंह व भतीजे अजयपाल सिंह को अमेरिका पहुंचाने के लिए एजैंट द्वारा हमसे 35-35 लाख रुपए की बात हुई थी और वहां पहुंचने पर पैसे देने की बात हुई थी, लेकिन जब हमारे दोनों लड़के 5 मई को घर से निकले तो एजैंट ने कहा कि इन्हें अमेरिकी डॉलर में पांच हजार रुपए देकर भेजना जो इंडिया का करीब 8 लाख रुपए बनता है, इसके बाद हमारे लड़कों को 9 मई को दिल्ली हवाई अड्डे से इंडोनेशिया उतार दिया गया जहां एक व्यक्ति आया, जो उन्हें अपने एक घर ले गया। इस दौरान तीन अन्य व्यक्ति मौजूद थे, जिसके बाद 13 मई को मई को अजयपाल सिंह ने अपने भाई आकाशदीप सिंह को फोन किया और बताया कि जिस घर में उसे रखा गया था।  वहां हम दोनों को उन व्यक्तियों ने काफी पीटा है और और भूखे-प्यासे रख कर हमसे पांच हजार डॉलर छीना लिए है और हमें जान से मारने का प्रयास किया गया।
 
मौत के केस में दोनों लड़कों को फंसाया झूठा
इसके बाद हम अब वहां से भाग कर अपनी जान बचा कर इंडोनेशिया के बाली हवाई अड्डे पर पहुंचे हैं और हमारे पास पैसे नहीं हैं। आप जल्द से जल्द हमारी वापसी की टिकट करवा दें, जिसके बाद आकाशदीप सिंह ने उनकी वापसी की टिकट करवा दी गई, वह वापस इंडिया नहीं पहुंचे, जिनके बारे पता करने पर पता चला कि जिन व्यक्तियों ने उनको अपने घर रखा था, उनकी शराबी हालात में आपसी झगड़े के कारण एक व्यक्ति की मौत हो गई है और एक सन्नी कुमार घायल हुआ है, जिसने उसे व्यक्ति को मौत के केस में हमारे दोनों लड़कों को झूठा फंसा दिया है, जबकि सन्नी कुमार बारे पता चला है कि वह बहुत बड़ा फ्रॉडी है और उस पर पहले से कई मामले दर्ज है, जिसने हमारे लड़को को झूठे केस में फंसा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button