हाफिज सईद का साला मक्की गिरफ्तार, मुंबई हमले में है मोस्ट वांटेड

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) के प्रमुख हाफिज सईद के साले और मुंबई हमले में मोस्ट वांटेड आतंकी अब्दुल रहमान मक्की को गिरफ्तार कर लिया है। अब्दुल रहमान मक्की की गिरफ्तारी पंजाब प्रांत के गुजरांवाला से हुई है। मक्की की गिरफ्तारी जमात-उद-दावा (जेयूडी), फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) से जुड़े 11 संगठनों पर बैन लगने के कुछ दिन बाद हुई है। मक्की ने गुजरांवाला में सरकार के प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ भाषण दिया था। मक्की ने अपने भाषण में एफएटीएफ (फाइनेंसियल एक्शन टास्क फॉर्स) के दिशानिर्देशों के अनुरूप उठाए गए कदमों की भी आलोचना की। वह जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन के लिए फंड जुटा रहा था। उसे फिलहाल लाहौर की जेल में रखा गया है।
आतंकी संगठन जमात-उद-दावा में मक्की का काफी प्रभाव है। वह दूसरी कमान के नेता में रूप में जाना जाता है। मक्की भारत के खिलाफ जहर उगलने के लिए ही जाना जाता है। साल 2010 में भारत विरोधी बयान को लेकर वह सुर्खियों में भी रह चुका है। उसने पुणे के जर्मन बेकरी में धमाके के आठ दिन पहले मुजफ्फराबाद में भाषण दिया था और पुणे समेत भारत के तीन शहरों में आतंकी हमले करने की धमकी दी थी। भारत की मांग पर अमेरिका ने मक्की को आतंकी घोषित किया था।
अब्दुल रहमान मक्की एक वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कश्मीर को आजादी दिलाने की बात कहता नजर आ चुका है। भारत के खिलाफ हमेशा जहर उगलने वाले मक्की के सिर पर करीब 13 करोड़ रुपये (20 लाख डॉलर) का इनाम है। मक्की तालिबान सरगना मुल्ला उमर और अलकायदा सरगना अल-जवाहिरी का भी बेहद करीबी रहा है।
आतंकवाद पर पाकिस्तान की कार्रवाई : पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा (जेयूडी), फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) और जैश-ए-मोहम्मद पर भी कार्रवाई की है। आतंकी संगठन पर कार्रवाई नेशनल एक्शन प्लान (एनएपी) के तहत हुई। एनएपी के तहत जेयूडी और एफआईएफ के स्वामित्व वाली 500 से अधिक संपत्तियां अब तक पंजाब प्रांत में जब्त की जा चुकी हैं। पंजाब गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पंजाब के 36 जिलों में, जेयूडी और एफआईएफ के स्वामित्व वाले स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, डिस्पेंसरी, एम्बुलेंस और स्ट्रीमर बोट को पंजाब सरकार ने अपने कब्जे में लिया है। पंजाब गृह मंत्रालय के सूत्रों ने ये भी खुलासा किया कि जेयूडी और एफआईएफ से संबंधित सभी संपत्तियों को अब प्रांतीय सरकार ने अपने कब्जे में ले लिया है। अब्दुल रहमान मक्की की गिरफ्तारी संगठन पर दूसरी सबसे बड़ी कार्रवाई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button