पत्रकारों पर हमले चिंता की बात : सरकार उठाये कारगर कदम : एनयूजे-आई

नई दिल्ली।  यह गंभीर चिंता की बात है कि पिछले दिनों में मीडिया पर हमलों की संख्या बढ़ रही है। चैनलों में चलने वाली बहस में अपने अनुकूल रूख न होने के कारण पिछले दिनों कुछ तत्वों द्वारा खुले तौर पर दी गई धमकी की बात हो या फिर विगत दिवस पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर एक बड़ी राजनीतिक पार्टी की युवा शाखा द्वारा किया गया कथित हमला हो। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया)  का मानना है कि मीडिया पर किसी प्रकार भी हमला सभी लोकतान्त्रिक और लोकतंत्र हितैषी शक्तियों द्वारा निंदनीय है। अबतक इस घटना की कांग्रेस पार्टी के किसी वरिष्ठ द्वारा निंदा नहीं किया जाना एक संदेश माना जाएगा।  नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया)  इस हमले और हमले के पीछे की सोच की घोर निंदा करती है, और सरकार से ऐसे हमलों के दोषियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग करते हैं। एनयूजे आई का मानना है कि शब्द और भाषा पत्रकार की कसौटी और अलंकार होता है उससे मर्यादा का भी पूरा ध्यान रखने की अपेक्षा रखी जाती है। लेकिन किसी व्यक्ति, व्यक्तियों के समूह और राजनीतिक कार्यकर्ताओं या उनके समर्थकों द्वारा किसी पत्रकार या पत्रकारिता संस्थान पर हमला किसी भी स्थिति में स्वीकार नहीं हो सकता है। इसलिए हम इस हमले की घोर निंदा करते हैं।

यहां जारी वक्तव्य में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया)  के अध्यक्ष मनोज मिश्रा और महासचिव सुरेश शर्मा ने वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर युवा कांग्रेस के नेताओं के द्वारा किये गये हमले की कड़ी निंदा की है। अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा कि पत्रकार इस समय कोरोना वायरस के संघर्ष में देश के साथ मिलकर काम कर रहा है तथा सजग प्रहरी के रूप में समाचार पहुंचा रहा है। ऐसे में शब्दों के अपने हिसाब से अर्थ निकाल कर संयम खोना राजनीतिक व्यक्ति की कमजोरी मानी जाएगी। इससे पहले भी बहस में अपनी बात सलीके से न रख पाने के बाद मरकज के प्रवक्ताओं और समर्थकों ने भी पत्रकारों और एंकरों को खुली धमकी दी थी। अब श्री गोस्वामी पर हमला पत्रकार जगत के लिए चिन्ता की बात है। देश के सबसे बड़े पत्रकार संगठन नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स  (इंडिया) इस प्रकार के हमलों की निंदा करते हुये केन्द्र सरकार से मांग की है कि वह पत्रकार सुरक्षा के लिए कारगर कदम उठाये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button