दण्डोतिया का निरीक्षण : अधिकारियों को समझाईश

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की किसानों को आत्मनिर्भर बनाने, उनकी आय में बढ़ोत्तरी एवं उनके सर्वव्यापी विकास के लिये अनेकों योजनायें संचालित की गई हैं। प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रयासों से कृषि को लाभ का व्यवसाय बनाकर कृषकों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ किया जाना है। 
म.प्र. ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष गिर्राज दण्डोतिया द्वारा प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की नवकरणीय ऊर्जा के प्रति विशेष सोच को दृष्टिगत रखते हुये नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में ओर अधिक गति से कार्य कर आम जनता को नवकरणीय ऊर्जा की योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त हो सके इसी तारतम्य में उनके द्वारा नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में किये जा रहे/किये गये कार्यों का अवलोकन/निरीक्षण किया। पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन में रूफटॉप पर स्थापित 50 कि.वा. क्षमता के सोल

Caption

र पॉवर प्लांट स्थापित किया गया है। यह जानकारी है कि
उनकी कुल विद्युत खपत का 50 प्रतिशत इस सौर संयंत्र से पूर्ति हो रही है। संस्थान में और 50 कि.वा. क्षमता के सौर संयंत्र रेस्को आधारित मॉडल अनुसार लगाये जाने की मांग की गई।अध्यक्ष द्वारा आश्वस्त किया गया कि मांगों पर जल्द ही विचार होगा।
दण्डोतिया द्वारा इस दौरे के दौरान ग्राम बड़झिरी में किसान राजेन्द्र वर्मा की कृषि भूमि पर स्थापित 5 एच.पी. क्षमता का सोलर पम्प का निरीक्षण किया गया तथा वहां के क्षेत्रीय किसानो से भी इस योजना के प्रति उनका फीडबैक प्राप्त किया गया। किसानों द्वारा बड़ी उत्साह से इस योजना की प्रशंसा की गई तथा यह योजना किसानों के लिए लाभकारी सिद्ध हो रही है। उन्होंने सीहोर जिले के इच्छावर में भी सोलर पम्पों की निरीक्षण किया गया। किसानों की मांग अनुसार सोलर पम्प स्थापना हेतु उनके आवेदन पोर्टल के माध्यम से लिये जाने पर शीघ्र ही निर्णय लिया जावेगा। 
इच्छावर में निजी भूमि पर स्थापित 50 मेगावाट क्षमता के सौर पॉवर प्लांट का भी निरीक्षण किया गया। उक्त संयंत्र की स्थापना विकास इकाई मेसर्स वारी द्वारा किया गया था। इस परियोजना की स्थापना में लगभग 250 करोड़ रूपये का प्रदेश में निवेश किया गया। इस परियोजना से उत्पादित बिजली सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया को दी जा रही है। 
दण्डोतिया द्वारा क्षेत्र के विभिन्न समाजों, वर्गों, जाति के लोगों को एकत्रित कर ऊर्जा साक्षरता अभियान से जुडऩे के लिए प्रेरित किया तथा इस अभियान को जन-जन तक पहुंचाने हेतु सभी के सहयोग की अपेक्षा की गई। उन्होंने निगम अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रदेश में संचालित नवकरणीय ऊर्जा की विभिन्न योजनाओं का समय-समय पर निरीक्षण करें तथा कार्यों की गति बढ़ाने के भी निर्देश दिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button