तेज गर्मी में बढ़ी मरीजों की संख्या

> सरकारी अस्पताल के पलंग नहीं खाली > जमीन पर पड़े हैं मरीज
जबलपुर।
तेज गर्मी के कारण सरकारी अस्पतालों के वार्ड एक बार फिर फुल होने लगे हैं। इसके बाद भी कई वार्डों में कूलर व पंखे तक की व्यवस्था नहीं थी। गत दिनों कलेक्टर के दौरे के बाद वार्डों की व्यवस्थाओं में सुधार की कवायद शुरू हो गई है। गौरतलब है कि भीषण गर्मी के कारण विक्टोरिया अस्पताल का डीबीडी वार्ड पूरी तरह फुल है। वार्ड के 45 पलंग खाली ही नहीं हो पा रहे हैं।
इनमें 30 मरीज कै दस्त के, 12 वॉयरलर बुखार और 8 मरीज हीथ स्ट्रोक की इलाज के लिए भर्ती हैं। पिछले माह तक वार्डों में कूलर चालू नहीं हो पाए थे वहीं कई वार्डों में पंखे तक बंद पड़े थे।
विक्टोरिया अस्पताल के बर्न वार्ड में एसी भी बंद पड़े थे। बर्न केसेस के मरीजों को गर्मी में भीषण गर्मी में शरीर से पानी तक निकलने लगा है। इसके बाद भी प्रबंधन बंद एसी चालू नहीं करा पाया था। गत दिनों प्रशासनिक फटकार के बाद तीनों सरकारी अस्पतालों में मरीजों को गर्मी से राहत दिलाने प्रयास शुरू हो गए हैं। इस मौसम में मरीजों की संख्या बढऩे के साथ ही सूरज की तपिश उन्हें परेशान करती है। संक्रमण के तेजी से फैलने की आशंका भी बढ़ जाती है। इसके चलते अस्पतालों ने व्यवस्थाओं में सुधार तेज कर दी है। वार्डों के पंखों की मरम्मत और कूलर्स लगाए जा रहे हैं। बंद एसी भी सुधारे जा रहे हैं। प्रशासन की नजर इमरजेंसी बढऩे के कारण ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने पर भी है। पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर स्टाक करने के लिए कहा गया है। आईसीयू की व्यवस्थाओं का प्री चेकअप किया जा रहा है। मई माह के शुरूआत से ही सूरज की तपिश तेजी से बढ़ रही है। इसलिए सरकारी अस्पतालों में कूलर्स की फिटिंग के आदेश जारी किए गए हैं। सबसे पहले ऊपरी मंजिल पर कूलर चालू करने के निर्देश हैं। मेडिकल अस्पताल की चौथी मंजिल के सभी वार्डों में कूलर लगा दिए गए हैं। अब नीचे के द्ब्रलोर में कूलर लगाए जा रहे हैं। विक्टोरिया और एल्गिन अस्पताल में भी कूलर की फिटिंग की जा रही है। गर्मी के दिनों में बर्न केसेस में मरीजों की परेशानी बढ़ जाती है। जिला अस्पताला में 12 बिस्तर का वर्न बार्ड अलग से है। इसमें कूलिंग के लिए अतिरिक्त कूलर्स लगाए जा रहे हैं। मेडिकल अस्पताल में भी जले हुए मरीजों के लिए वार्ड में व्यवस्थाओं को बेहतर बनाया गया है।
मेडिकल के अधीक्षक राजेश तिवारी के अनुसार गर्मी को ध्यान में रखते हुए कूलर और एसी में सुधार के निर्देश दिए हैं। कुछ वार्डों में कूलर फिट करने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। वहीं विक्टोरिया में सिविल सर्जन डॉ. एसके पांडे के अनुसार वार्डों के बंद कूलर, पंखे, एसी की जानकारी लेकर उन्हें चालू कराया जा रहा है। डीबीडी वार्ड की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाया जा रहा है। एल्गिन अस्पताल के आरएमओ डॉ. संजय मिश्रा ने बताया कि हर वार्ड में कूलर की व्यवस्था की जा रही है। बंद कूलरों की मरम्मत कर वार्डों में लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button