टूर्नामेंट के 46 दिन में 11 स्टेडियम पर होंगे 48 मैच, लॉर्ड्स में 5वीं बार फाइनल

नई दिल्ली। इंग्लैंड एंड वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई के बीच 12वां वनडे वल्र्ड कप खेला जाएगा। टूर्नामेंट में 45 दिन में 48 मैच होंगे। ये मैच 10 शहरों के 11 स्टेडियम में खेले जाएंगे। इनमें 8 स्टेडियम 100 साल से भी ज्यादा पुराने हैं। 48 में से 36 मैच इन्हीं 8 स्टेडियम पर होंगे। इन सभी स्टेडियम से कोई न कोई कहानी जुड़ी है। कोई दुनिया का सबसे पुराना क्रिकेट स्टेडियम है, तो कोई सबसे नया। रोज बाउल पर पहली बार वर्ल्ड कप होगा। द ओवल स्टेडियम पर इंग्लैंड के सबसे पुराने फुटबॉल टूर्नामेंट एफए कप का फाइनल तक हो चुका है।
लॉर्ड्स का मैदान 1814 में बना था। इसकी दर्शक क्षमता 28 हजार है। इस मैदान पर फाइनल सहित पांच मैच खेले जाएंगे। यह दुनिया का सबसे पुराना स्टेडियम है। यहां पर 1884 में पहला टेस्ट खेला गया था। स्टेडियम के फाउंडर थॉमस लॉर्ड के नाम पर नाम रखा गया। थॉमस ने 15 साल क्रिकेट खेला था। यह मैदान वर्ल्ड कप इतिहास में पांचवीं बार फाइनल की मेजबानी करेगा। यहां दुनिया का सबसे पुराना स्पोर्ट्स म्यूजियम (एमसीसी म्यूजियम) है। क्रिकेट की कई ऐतिहासिक चीजों के साथ एशेज की राख भी यहीं रखी है। 2005 तक इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) का हेडक्वार्टर भी यहीं था। लंदन का इतिहास 2000 ईसा पूर्व का है। ऐसी भी जानकारी है कि लंदन में फर्स्ट सेंचुरी में रोमन लोगों ने राज किया। यहां 300 से ज्यादा भाषाएं बोलने वाले लोग रहते हैं। भारत ने 8 मैच खेले, 4 जीते, 3 हारे, 1 टाई रहा। यह स्टेडियम 1882 में बना था। इसकी दर्शक क्षमता 25,000 है। इस मैदान पर सेमीफाइनल सहित 5 मुकाबले खेले जाएंगे। भारतीय टीम 30 जून को यहां इंग्लैंड और 2 जुलाई को बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगी। यहां के दर्शक जोशीले और उत्साही हैं, इसलिए इस स्टेडियम को इंग्लैंड का ईडन गार्डन भी कहते हैं। बर्मिंघम यूरोप का सबसे युवा शहर है। 
वल्र्डकप : भारत के 6 बल्लेबाज नंबर-4 पर खेले, लेकिन एक भी शतक नहीं लगा
क्रिकेट के सबसे बड़े इवेंट वल्र्ड कप के शुरू होने में केवल 8 दिन बचे हैं। टूर्नामेंट के लिए टीम इंडिया बुधवार को इंग्लैंड रवाना होगी। टीम इंडिया में इस समय सबसे ज्यादा चर्चा नंबर-4 पोजिशन पर बल्लेबाजी को लेकर है। 1 जून 2015 से अब तक के वल्र्ड कप में शामिल हो रही सभी 10 टीमों के रिकॉर्ड को देखें तो नंबर-4 पर भारत और श्रीलंका दोनों टीमों ने सबसे ज्यादा 12-12 खिलाडिय़ों को उतारा। वहीं, इंग्लैंड ने सबसे कम 5 बल्लेबाजों को चौथे क्रम पर मौका दिया। न्यूजीलैंड की टीम ने 9 खिलाडिय़ों को बल्लेबाजी के लिए भेजा और सबसे ज्यादा 3494 रन बनाए। इसमें 9 शतक शामिल हैं। वहीं टीम इंडिया ने 2411 रन बनाए। सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में टीम पांचवें नंबर पर है। मौजूदा टीम इंडिया में शामिल 15 खिलाडिय़ों में से 6 को पिछले चार साल में नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला। लेकिन वे एक भी शतक नहीं लगा सके हैं। ऐसे में टीम नंबर-4 पर किस खिलाड़ी को उतारेगी। स्थिति स्पष्ट नहीं है। लोकेश राहुल, विजय शंकर और धोनी यहां बल्लेबाजी के लिए फिट माने जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button