जब गिराना होगी तत्काल गिरा देंगे : नरोत्तम

कमलनाथ सरकार को लेकर भाजपा नेताओं का एकमत
भोपाल। [विशेष प्रतिनिधि] 
भाजपा प्रदेश की कमलनाथ सरकार को गिराने की जल्दी में नहीं है। लेकिन वह इशारे का इंतजार कर रही है। ज्योंहि ऐसा संदेश मिलता है कांग्रेस में भगदड़ मच जायेगी। जिसतने लोग तैयार हैं वे संपर्क में हैं। जब चाहेंगे तब सरकार को गिरा देंगे। जब प्रदेश के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ भाजपा ने से यह पूछा गया कि विधायक डामोर सांसद बन गये हैं वे सांसदी छोडेंगे या विधायकी?
डा. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पार्टी अपनी रणनीति के तहत यह विचार करेगी कि क्या बेहतर होगा? सवाल यह उठाया गया कि यदि डामोर विधायकी छोड़ते हैं तब कांग्रेस को अपने दम पर बहुमत मिल जायेगा। 114 उसके विधायक जीते हैं और एक पुराने कांग्रेसी निर्दलीय विधायक को मंत्री बनाया हुआ है। तब सदन की 219 संख्या के सामने कांग्रेस के 115 विधायक रह जायेंगे। डा. मिश्रा ने कहा कि अभी इस प्रकार के णित में पडऩे की जरूरत नहीं है जब इशारा होगा लोग खुद आ जायेंगे और सरकार गिर जायेगी। हमने यह जानने का प्रयास किया कि अभी कितने विधायक संपर्क में हैं तब उन्होंने कहा कि संपर्क में बहुत है लेकिन इस संपर्क का कोई मतलब नहीं है। जब ऐसा होगा तब सब हो जायेगा।
डा. मिश्रा के आत्मविश्वास को देखकर लगता है कि कांग्रेस में भगदड़ की स्थिति बन सकती है। मोदी के मिल बहुमत के बाद इस प्रकार की संभावना देखी जा सकती है। भाजपा के नेताओं ने कई बार ऐसे संकेत दिये हैं कि भाजपा जब चाहेगी तब वह सरकार को गिरा देगी। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कैलाशस विजयवर्गीय और नरेन्द्र सिंह तोमर के बाद प्रह्लाद पटेल ने भी कह दिया है कि सरकार कभी गिराई जा सकती है और भाजपा की सरकार बन सकती है।
एक विचार यह भी आया कि मध्यप्रदेश की त्रिशंकु स्थिति को सुधारने के लिए फिर से विधानसभा के चुनाव कराये जाने की संभावना बन रही है। इस मत के नेता भी कई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button