कैबिनेट बैठक के बाद 16वीं लोकसभा भंग, पीएम मोदी ने राष्ट्रपति को सौंपा इस्तीफा

नई दिल्ली। 2019 में प्रचंड जीत के बाद नई दिल्ली में भाजपा की केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई। इस दौरान केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 16 वीं लोकसभा को भंग करने का प्रस्ताव पारित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलकर अपना और पूरी कैबिनेट का इस्तीफा सौंप दिया है। 16वीं लोकसभा भंग करने और कैबिनेट का इस्तीफा सौंपे जाने के बाद अब भाजपा केंद्र में नई सरकार बनाने और नई कैबिनेट गठित करने की प्रक्रिया शुरू करेगी। आज शुक्रवार की शाम हुई कैबिनेट बैठक में सुषमा स्वराज, पीयूष गोयल, नितिन गडकरी समेत कई नेता शामिल हुए। इस बैठक में स्वास्थ्य के कारण अरुण जेटली शामिल नहीं हुए।
मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को खत्म हो रहा है। इसके बाद नई लोकसभा का गठन होगा। नई लोकसभा के गठन के लिए चुनाव आयुक्त राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे और नवनिर्वचित उम्मीदवारों की लिस्ट सौपेंगे। जानकारी अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 30 मई को शपथ ग्रहण कर सकते हैं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी से मुलाकात की और उनसे आशीर्वाद लिया। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की, फिर इसके बाद मुरली मनोहर जोशी के घर गए। प्रधानमंत्री ने इस चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत का श्रेय आडवाणी को दिया। उन्होंने ट्वीट किया कि आडवाणी जी से मुलाकात की। भाजपा को इतनी बड़ी सफलता इसलिए मिली, क्योंकि आडवाणी जी जैसे महान नेताओं ने पार्टी को खड़ा करने में दशकों तक काम किया। प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी की भी तारीफ की। डॉ. मुरली मनोहर जोशी बेहद विद्वान हैं। उन्होंने सदैव पार्टी की मजबूती के लिए काम किया। मेरे जैसे कई कार्यकर्ताओं को इनका मार्गदर्शन मिला है। 
वहीं सूत्रों ने बताया कि यह शपथ ग्रहण पिछली बार की तरह शाम 4 से 5 बजे के बीच ही होगा। इससे पहले प्रधानमंत्री 28 मई को काशी जा सकते हैं और वहां धन्यवाद सभा को संबोधित कर सकते हैं। वहीं गुजरात जाकर अपनी मां हीरा बा से भी मुलाकात कर सकते हैं। फिलहाल, यह साफ नहीं है कि पिछली बार की तरह इस बार दुनिया के देशों से नेताओं को शपथ ग्रहण में बुलाया जाएगा या नहीं। आज होने वाली केंद्रीय कैबिनेट बैठक नई लोकसभा के गठन के मसले पर बुलाई जा रही है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button