एक साल के कमलनाथ फेल : राकेश सिंह

भोपाल। [विशेष प्रतिनिधि] प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए प्रदेश की कमलनाथ सरकार को हर मामले में विफल बताया और कहा कि विफलता भ्रष्टाचार और राजनीतिक धींगा मस्ती से यह साल बीता है। उपलब्धि के नाम पर झूठ और धोखा है। किसानों की कर्ज माफी नहीं हुई वह आत्महत्या कर रहा है। फसल के खराब होने का मुआवजा नहीं दिया। कुर्की के आदेश जारी हो रहे हैं और किसानों को नोटिस दिए जा रहे हैं। 10 दिन में कर्ज माफी ना हुई तो मुख्यमंत्री बदल देंगे ऐसा कहकर किसानों के साथ धोखा किया गया। उसे नया ऋण नहीं मिल रहा है। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने के मामले में सरकार विफल रही है। पर्याप्त बिजली के बाद भी खेत को बिजली नहीं मिल रही है। गौसंरक्षण के नाम पर वादा झूठा किया गया। उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर यह सरकार 1 साल भर तक झूठ के साथ खेलती रही और पूरे तौर पर विफल रही है।
भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने दीनदयाल परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि किसान आठ-आठ आंसू रोता रहा है। वचन पत्र में बहुत स्पष्ट शब्दों में कहा गया था कि किसानों का 200000 का कर्जा माफ करेगी। लेकिन अब सरकार यह कह रही है कि अभी तक 50000 का कर्जा माफ हुआ है दूसरे चरण में शुरुआत की जा रही है। कर्जमाफी के झांसे में किसान आ गया और उसकी कमर टूट गई। आज वह अपने को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। जब प्रदेश में भाजपा सरकार थी तो पर्याप्त मात्रा में बिजली मिलती थी। अपने वचन पत्र में कांग्रेस ने जनता को गुमराह किया और कहा कि किसानों को पर्याप्त मात्रा में बिजली दी जाएगी लेकिन सरकार बनने के बाद किसानों को बिजली नहीं मिल रही है। हर एक गांव में गौशाला होगी ऐसा वादा किया गया था लेकिन किसी भी गांव में बनी गौशाला को भाजपा देखना चाहती है। केंद्र सरकार ने 6000 किसान सम्मान निधि देने का निर्णय लिया है मध्य प्रदेश सरकार उसे रोक रही है। अभी तक किसानों की सूची उपलब्ध नहीं कराई गई है। बेरोजगारी भत्ता 4000 देने की बात की गई थी लेकिन अभी तक शुरू नहीं हुआ है। रेत और शराब की ठेकेदारी कौन कर रहा है यह आरोप मंत्री लगा चुके हैं ? राकेश सिंह ने कहा प्रधानमंत्री आवास योजना में मध्यप्रदेश मैं 800000 मकान बनना थे लेकिन सरकार उन्हें पूरा नहीं कर पाई और दो लाख मकान सरेंडर कर दिए। सड़कों की स्थिति में मध्यप्रदेश संपन्न था आज क्या स्थिति बन गई है? यह किसी से छिपी नहीं है। पेट्रोल डीजल के भाव कम करने का वादा किया गया था लेकिन मौका देखकर बढ़ा दिए गए हैं। विधायक मंत्रियों पर नाराज हो रहे हैं और मंत्री मुख्यमंत्री को हड़का रहे हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि प्रदेश में 3 मुख्यमंत्री सरकार चला रहे हैं इसलिए प्रदेश में वह को अराजकता की स्थिति बनी हुई है।
राकेश सिंह ने कहा कि माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने का स्वागत करते हैं लेकिन यह हमारे लोगों को चुनकर कार्रवाई की जा रही है जो स्वीकार नहीं की जाएगी। पत्रकारों द्वारा नाम पूछने पर उन्होंने जबलपुर युवा मोर्चा के महामंत्री प्रजीत वर्मा का नाम लिया। माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय के बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि आज पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा में यह सवाल उठाया था और हम वहां जो चल रहा है उसकी निंदा करते हैं। जातिगत विद्वेष फैलाने का काम हो रहा है। उन्होंने छात्रों का निलंबन तत्काल वापस लेने की मांग की। हनीट्रेप मामले में भाजपा विधायक का नाम आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सरकारी हनीट्रैप चल रहा है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि भाजपा ने मांग की थी कि राजनीति नहीं होना चाहिए और हमें शामिल लोगों के नाम सामने आना चाहिए। कमलनाथ सरकार को पहले साल में सबसे असफल सरकार करार किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button